झारखंड में लोकसभा चुनाव (Loksabha election 2019) के लिए महागठबंधन के दलों के बीच सीटों बंटवारे का प्रारंभिक खाका तैयार हो गया गया है। कांग्रेस (congress) को सात, झामुमो (JMM) को चार, झाविमो को दो और राजद (RJD) को एक सीट देने की रणनीति बनी है, जिस पर अंतिम फैसला गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे। वामपंथी दलों के साथ विधानसभा चुनाव में सीटों पर तालमेल होगा। फिलहाल लोकसभा चुनाव में उनसे समर्थन लेने का फैसला किया गया है। 

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह (RPN Singh) के साथ बुधवार को दिल्ली में झामुमो के केन्द्रीय कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन और झाविमो नेताओं की हुई बैठक में सीटों के बंटवारे का प्रारंभिक खाका तैयार किया गया। इसमें कांग्रेस को रांची, लोहरदगा, खूंटी, धनबाद, गोड्डा, हजारीबाग, जमशेदपुर, झामुमो को दुमका, गिरिडीह, राजमहल, सिंहभूम, झाविमो को कोडरमा, पलामू तथा राजद को चतरा सीट देने की रणनीति बनायी गई। हालांकि जमशेदपुर, सिंहभूम, खूंटी, गोड्डा, गिरिडीह और कोडरमा को लेकर अभी जिच बरकरार है। 

गुरुवार को झारखंड के नेताओं की राहुल गांधी के साथ बैठक होगी, जिसमें इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। झारखंड के सभी नेता दिल्ली में मौजूद हैं। बुधवार को हुई बैठक में प्रदेश कांग्रेस के सह प्रभारी उमंग सिंघार, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार, झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी के प्रतिनिधि के रूप में विधायक दल के नेता प्रदीप यादव और केन्द्रीय महासचिव बंधु तिर्की मौजूद थे। 

इस बैठक में सभी दलों के वोट बैंक के सामाजिक आधार तथा पिछले चुनाव परिणाम पर भी चर्चा हुई। कांग्रेस ने पिछले चार चुनावों से पहले की स्थिति को ध्यान में रखकर दावेदारी की है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हाल के चुनावों में कांग्रेस के पक्ष में आए परिणामों को देखते हुए पुराने समीकरणों पर गौर करना जरूरी है।  

हेमंत ने फिर उठाया विस चुनाव का मुद्दा
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने बैठक में एक बार फिर विधानसभा चुनाव में नेतृत्व का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि गठबंधन के बीच लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनाव के सीटों की साझेदारी पर भी फैसला हो जाना चाहिए। विधानसभा चुनाव के नेता की घोषणा अभी कर दी जानी चाहिए। इससे राज्य की जनता के बीच गठबंधन के प्रति तसवीर साफ रहेगी। कांग्रेस प्रभारी ने इस पर गुरुवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ होने वाली बैठक में चर्चा करने की बात कही है।