नई दिल्ली । देश की प्रतिष्ठित चार पहिया वाहन कंपनी मारुति सुजुकी अपनी छोटी कारों को नए अवतार में बाजार में उतारने की तैयारी में है। कंपनी डीजल इंजन की जगह सीएनजी का इस्तेमाल कर सकती है। कंपनी स्विट, डिजायर, लिग्स और बलेनो के सीएनजी मॉडल जल्द ही बाजार में उतार सकती है। कंपनी साल 2022 तक 2,00,000 सीएनजी वाहन बेचने का लक्ष्य बना रही है। इसके लिए कंपनी ने डीलरशिप्स को अपने सीएनजी स्टेशंस के लिए लाइसेंस लेने को कहा है। बीएस 6 एमीशन नॉर्म्स के लागू होने के बाद कंपनी को अपना इंजन भी मोडीफाई करना होगा। कंपनी अपने वाहनों में फायट मल्लिजेट इंजन का इस्तेमाल करती है जो बीएस 6 कंप्लायंट नहीं है। बीएस 6 नॉर्म्स के चलते छोटी कारों की कीमत बढ़ेगी जिससे उनकी सेल्स पर सीधा असर पड़ेगा। लिहाजा कंपनी ने डीजल इंजन से सीएनजी ईंधन में शिफ्ट करने का फैसला किया है। 
ज्ञात हो कि कंपनी जल्द ही मारुति ऑल्टो को नए अवतार में लॉन्च करने वाली है। नई मारुति ऑल्टो कंपनी के नए हार्टेक्ट प्लैटफॉर्म पर आधारित होगी, जिससे यह आने वाले क्रैश टेस्ट नॉर्म्स में खरी उतर सके। साथ ही नए प्लैटफॉर्म की वजह से वर्तमान मॉडल की तुलना में नई ऑल्टो का माइलेज भी बेहतर होगी। नई ऑल्टो का इंटीरियर साधारण ही रहेगा, लेकिन इसमें मारुति सुजुकी का 7-इंच स्मार्टप्ले स्टूडियो टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम दिया जा सकता है। नए सेफ्टी नॉर्म्स को देखते हुए माना जा रहा है कि नई ऑल्टो में एयरबैग्स, ईबीडी के साथ एबीएस, रियर पार्किंग सेंसर, सीट बेल्ट रिमाइंडर और स्पीड वॉर्निंग सिस्टम जैसे सेफ्टी फीचर्स होंगे। इसमें भी वर्तमान मॉडल्स की तरह 800सीसी और 1.0-लीटर वाले इंजन का ऑप्शन मिलेगा। ये इंजन बीएस 6 एमिशन नॉर्म्स के अनूकुल होंगे। नई ऑल्टो में 5-स्पीड मैन्युअल, 5-स्पीड एएमटी और फैक्ट्री फिटेड सीएनजी किट के ऑप्शन मिलने की उम्मीद है।