भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने जम्मू में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर करारा प्रहार किया. उन्होंने कहा कि कश्मीर की समस्या के लिए गांधी परिवार जिम्मेदार है. अमित शाह ने कहा, 'राहुल गांधी कश्मीर के हालात पर सवाल करते हैं, मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि अगर कश्मीर को लेकर सवाल उठ रहे हैं तो उसके जिम्मेदार आपके परदादा जवाहरलाल नेहरू हैं.'

अमित शाह ने नेहरू को PoK के लिए भी जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि सेना पीओके को जीतने जा रही थी तो उन्हें नेहरू ने रोक दिया था. शाह ने कहा, 'जब हमारी सेना पीओके पर फतह करने जा रही थी तो उन्हें रोकने वाले कौन थे? यह जवाहरलाल नेहरू थे. उन्होंने सेना को रोक दिया था.'

'जहां हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है'

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की जनता को कहने आया हूं कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. इसे कोई नहीं छीन सकता. यह वही जम्मू कश्मीर की धरती है जिसके लिए भारतीय जन संघ के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी की हत्या कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि जहां हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है.

साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी आतंक के खिलाफ लड़ाई में डटकर खड़ी है और आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में कोई समझौता नहीं किया है. अमित शाह ने पुलवामा हमले पर कहा कि हमारे शहीद जवानों का जो खून इस धरती पर बहा है वो व्यर्थ नहीं जाएगा.

कांग्रेस ने किया अन्याय

अपने संबोधन में अमित शाह ने कहा कि 2014 के बाद जम्मू कश्मीर में अामूल चूल परिवर्तन आया है. इससे पहले सिर्फ दो परिवारों का काम होता था और जम्मू कश्मीर के लद्दाख में रहने वाले लोगों के साथ बहुत अन्याय हुआ. कांग्रेस ने अन्याय किया. सोनिया-मनमोहन की सरकार के समय 13वें वित्त आयोग के अंतर्गत मात्र 98 हजार करोड़ रुपये दिए गए थे. लेकिन मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत 1 लाख 98 हजार करोड़ रुपये की धनराशि जम्मू कश्मीर के विकास के लिए दी.

'कांग्रेस, एनसी और पीडीपी परिवारवादी पार्टियां'

कांग्रेस, एनसी और पीडीपी परिवारवादी पार्टियां हैं. ये जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए काम नहीं करती हैं, बल्कि अपने परिवार के विकास के लिए काम करती हैं. साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तारीफ करते हुए कहा कि यह योजना मोदी जी की किसान कल्याण के प्रति कटिबद्धता और समर्पण का प्रतीक है. इस योजना के माध्यम से प्रति वर्ष 75 हज़ार करोड़ रुपये सीधे किसानों के खातों में जाएंगे. यह किसानों को लाभ देने वाली अबतक की सबसे बड़ी योजना है.

विपक्ष पर हमला करते हुए अमित शाह ने कहा कि जिस गठबधंन का कोई नेता नहीं है, कोई नीति नहीं है, वो देश का भला नहीं कर सकते हैं. ये गठबंधन नहीं बल्कि मिलावट करने वालों की टोली है, परिवारवाद को बढ़ावा देने वालों की टोली है.