पांच दिन पहले राजधानी जयपुर में सेंट्रल जेल में आपसी विवाद के चलते साथी कैदियों के हाथों हत्या के शिकार हुए पाकिस्तानी कैदी शकरउल्ला का शव लेने के लिए अभी तक कोई नहीं आया है. जेल प्रशासन इस संबंध के गृह विभाग को कई बार जानकारी दे चुका है, लेकिन अभी तक शव लेने के लिए उनसे कोई संपर्क नहीं साधा गया है.
गृह विभाग की मानें तो वह भी इस मामले को लेकर पाक दूतावास को जानकारी दे चुका है. बावजूद इसके पाक दूतावास के अधिकारी अभी तक जयपुर नहीं पहुंचे हैं. जेल मैनुअल के अनुसार 15 दिन तक पाक दूतावास जेल प्रशासन से संपर्क नहीं साधता है तो जेल प्रशासन शव को सुपुर्दे-ए-खाक कर सकता है.
उल्लेखनीय है कि गत बुधवार को जयपुर सेंट्रल जेल में टीवी देखने के दौरान कैदियों में झगड़ा हो गया था. इस झगड़े में एक पाकिस्तानी कैदी की मौत हो गई थी. कैदी की पहचान आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा जुड़े आतंकी शकरउल्ला के रूप में हुई थी. शकरउल्ला के साथ जयपुर जेल में 8 आतंकी बंद थे. 30 नवंबर 2017 को एडीजे कोर्ट ने सभी आतंकियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. साल 2010 में एटीएस ने इन आतंकियों को गिरफ्तार किया था जिन्हें बाद में आंतक के लिए फंड जुटाने में दोषी पाया गया. इनमें से एक कैदी शकरउल्ला था.