पुलवामा में आंतकी हमले (Pulwama Terror Attack) के जवाब में भारतीय वायु सेना (Indian AirForce) की पाक एलओसी(LOC) पर कार्रवाई से शामली के शहीद अमित के परिजनों ने सराहा।अमित के पिता सोहनपाल बोले उग्रवाद का जड़ से खात्मा हो। पुलवामा हमले में 40 बेटे शहीद हुए। खून का बदला खून से लेने में सेना ने जो पहल की है वह सराहनीय है। प्रधानमंत्री मोदी ने अच्छा जवाब दिया है, लेकिन उग्रवाद व दहशतगर्द जड़ से खत्म होना चाहिए जिससे फिर कोई बेटा धोखे से शहीद न हो पाए। इसके साथ ही उनकी अपील है कि इस हमले में कोई आम नागरिक हताहत न हो।
आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने एलओसी पार कर बड़ी कार्रवाई की है। मिराज-2000 के 12 विमानों ने एलओसी पार कर आतंकी कैंपों पर एक हजार किलो के बम गिराए। इससे वहां मौजूद सभी आतंकी कैंप ध्वस्त हो गए। यह हमला मंगलवार सुबह 3:30 पर किया गया। यह जानकारी न्यूज एजेंसी एएनआई ने भारतीय वायुसेना के सूत्रों के हवाले से दी है।

सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि भारतीय वायुसेना के विभिन्न लड़ाकू विमानों ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में पाकिस्तान स्थित कई आतंकवादी समूहों के शिविरों को सफलतापूर्वक नष्ट कर दिया। गौरतलब है कि इससे पहले 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के फिदायिन हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। कई अन्य घायल हुए थे। जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 2500 से अधिक कर्मी 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे। इनमें से अधिकतर अपनी छुट्टियां बिताने के बाद अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे।