भारतीय वायु सेना द्वारा एलओसी पर आतंकी कैंपों पर हमले के बाद देश के अलग-अलग हिस्साों से लोग सड़क पर उतर आए। मंगलवार की सुबह सैकड़ों की संख्या में लोग ने जमा हुए और भारत माता की जय तथा वंदे मातरम के नारे लगाए। इस दौरान आतिशबाजी की गई और लोगों के बीच में मिठाई का वितरण भी किया गया। लोग इसे कड़ी कार्रवाई बताते हुए इसकी सराहना कर रहे हैं। लोगों ने कहना है कि भारत ने जवानों की शहादत का बदला लिया है जिसकी जरूरत थी। 
आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने एलओसी पार कर बड़ी कार्रवाई की है। मिराज-2000 के 12 विमानों ने एलओसी पार कर आतंकी कैंपों पर एक हजार किलो के बम गिराए। इससे वहां मौजूद सभी आतंकी कैंप ध्वस्त हो गए। यह हमला मंगलवार सुबह 3:30 पर किया गया। यह जानकारी न्यूज एजेंसी एएनआई ने भारतीय वायुसेना के सूत्रों के हवाले से दी है।
पुलवामा हमले में शहीद कानपुर देहात के सीआरपीएफ जवान श्याम बाबू के समाधि स्थल पर युवकों ने लहराया तिरंगा।
कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने वायुसेना की बड़ी कार्रवाई पर कहा कि आतंकियों का विनाश अनिर्वाय है।
प्रयागराज में किला घाट पर युवाओं ने सेना के जवानों को मिठाई खिलाई।
मथुरा की मांट तहसील में वकीलों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। वकीलों ने एलओसी पर वायुसेना की कार्रवाई को सराहा।
पुलावामा हमले में शहीद कौशल की बेटी अपूर्वा ने कहा कि अभी एयर फोर्स ने कार्रवाई की है। उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के जवानों को भी खुली छूट दी जाए जिनके परिजन शहीद हुए हैं वह आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दे। पाकिस्तान को सबक मिलना शुरू हो गया है अब पाकिस्तान आतंकवादियों को संरक्षण देने से पहले सौ बार सोचेगा हिंदुस्तान को याद रखेगा।
बिहार के गया में टिकारी के पचमहला गांव में लोगों ने मनाया जश्न। इस गांव के 26 लोग बार्डर पर कर रहे देश की सेवा।
एलओसी पर भारत की ओर से किये गए हवाई हमले से शहरभर में जश्न का माहौल। डीएस कालेज के बाहर छात्रों ने मनाई दिवाली। जमकर हुई नारेबाजी।
मथुरा में शहीद हेमराज की पत्नी ने कहा कि भारतीय वायुसेना ने आज शहीदों की शहादत का बदला ले लिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि पहले हम छेड़ते नहीं, बाद में हम छोड़ते नहीं।
भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम पर यूपी के गोंडा में जश्न का माहोल। यहां लोगों ने सड़क पर उतरकर लगाए भारतीय सेना जिन्दाबाद के नारे। साथ ही शहर की सड़कों पर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी गूंजे। इसके अलावा छोटे-छोटे बच्चों ने लहराया तिरंगा।
मंगलवार की सुबह सैकड़ों की संख्या में युवा शहर के रमेश चौक पर जमा हो गए और भारत माता की जय तथा वंदे मातरम के नारे लगाए। युवाओं के स्तर से नारेबाजी होती देख स्थानीय लोग जमा हो गए और जमकर नारे लगाए। हमले के बाद औरंगाबाद में चर्चा का बाजार भी शुरू हो गया। लोग इसे कड़ी कार्रवाई बताते हुए इसकी सराहना कर रहे हैं। रमेश चौक पर तिरंगा लेकर पहुंचे युवाओं ने इस कार्रवाई के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया। उज्जवल कुमार सिंह, दीपक कुमार, राहुल कुमार, सौरव सिन्हा सहित अन्य लोगों ने कहा कि भारत ने जवानों की शहादत का बदला लिया है जिसकी जरूरत थी।