अहमदाबाद | सूरत में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी रूपाणी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए गुजरात आत्मा है और भारत उनका परमात्मा है| पहले हमारे देश को पड़ौसियों द्वारा कई बार परेशान किया जाता था। आतंकी संगठन अमानवीयता से बर्बरतापूर्वक हमारे जवानों और सैनिक छावनियों पर हमले करते रहे। लेकिन अब उन्हें करारा जवाब दिया जा रहा है| ईंट का जवाब पत्थर से देने की इस नयी परम्परा के चलते पूरी दुनिया का भारत के प्रति नजरिया बदल गया है। भारत किसी को छेड़ता नहीं है और अगर कोई भारत को कोई छेड़ता है तो भारत उसे अब छोड़ता नहीं है।
सूरत महानगरपालिका के कर्मचारियों द्वारा पुलवामा में शहीद हुए भारतीय जवानों के लिए अर्पित 21 लाख रुपए की राशि के मानवतावादी कार्य की सराहना करते हुए रूपाणी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए गुजरात उनकी आत्मा है और भारत उनका परमात्मा है। पूर्व की सरकारों से सवाल करते हुए उन्होंने नर्मदा डेम की मंजूरी, क्रूड रॉयल्टी की राशि, गुजरात को एम्स का आवंटन, रेलवे, एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं से वंचित रखे जाने के पाप का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि मात्र एक परिवार की राजनीति करने वाली सरकार ने इस देश का बहुत नुकसान किया है। विश्व के नक्शे में विकास का पर्याय बने गुजरात और गुजरात के नक्शे में विकास का दूसरा नाम बन चुके सूरत को नये 10 ब्रिज मिलेंगे, इसकी व्यवस्था बजट में की गई है। बहुत तेजी से विकसित हो रहे सूरत में आज मुख्यमंत्री ने करीब 550 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए धन की कमी नहीं आने दी जाएगी। कतारगाम में भी आज भारत के सबसे पहले आधुनिकतम पुलिस स्टेशन का लोकार्पण किया गया है। 
तापी शुद्धिकरण के लिए 970 करोड़ जितनी भारी राशि का आवंटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने किया है। सूर्यपुत्री तापी नदी की पवित्रता के साथ यहां नियमित रूप से तापी नदी की पूजा- अर्चना भी हो, इसके प्रयास किए जा रहे हैं। पंचायत से पार्लियामेंट तक सम्पूर्णतया परिवर्तन के साथ आगे बढ़ने में सबका साथ और सहयोग आवश्यक है।