जम्मू । भारतीय वायु सेना के जॉबाज विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार रात को पाकिस्‍तान से वाघा बॉर्डर के द्वारा अपनी मातृभूमि भारत वापस लौट आए। अभिनंदन भले ही स्वदेश वापस लौट आए हों लेकिन सीमा पर भारत-पाकिस्‍तान के बीच तनाव अभी भी जारी है। जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से शुक्रवार को भारी गोलाबारी की गई। इसमें एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार के गोले तथा भारी हथियारों से आम नागरिकों के इलाकों को निशाना बनाया। भारतीय सुरक्षा बलों ने इसका करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि पुंछ जिले के सलोत्री में भारी गोलाबारी में, एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हो गया। इलाके के कई घरों पर गोले आकर गिरे। 
उन्होंने कहा कि गोलाबारी में रूबाना कौसर (24), उनका बेटा फजान (5) और नौ महीने की बेटी शबनम की मौत हो गई। रूबाना के पति मोहम्मद यूनिस घायल हो गए। अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले, पुंछ जिले के मनकोट इलाके में पाकिस्तानी बलों की गोलीबारी में नसीम अख्तर नाम की महिला घायल हो गई। सलोत्री और मनकोट के अलावा पुंछ जिले के कृष्णाघाटी और बालाकोट इलाकों में भी गोलाबारी हुई। यह लगातार आठवां दिन है जब पाकिस्तानी बलों ने राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा के पास छह सेक्टरों में आम नागरिकों के इलाकों और अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर की गई पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी में एक महिला की मौत हो गई थी और एक जवान घायल हो गया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान के इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया था। पाकिस्तानी सेना ने पिछले एक सप्ताह में 60 से ज्यादा बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर में पुंछ, राजौरी, जम्मू और बारामुला जिलों में 70 असैन्य और सीमावर्ती इलाकों को निशाना बनाया जिसमें एक महिला की मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए। मौजूदा स्थिति के मद्देनजर अधिकारियों ने राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले शैक्षिक संस्थानों को अस्थायी तौर पर बंद करने का आदेश दिया है। उन्होंने सीमा पर रहने वाले सभी निवासियों से अपने घरों के भीतर रहने के लिए कहा है।