भोपाल। राजधानी में होली की सुरक्षा को लेकर किये गये कडे दावो के बीच होली के दिन ही दिन दहाड़े बागसेवनिया थाना इलाके में पानी फैलाने को लेकर शुरू हुए विवाद में एक युवक की हत्या कर दी गई। बताया गया है की जहॉ यह विवाद दो दिन पहले से चल रहा था, वही हत्या से पूर्व भी घंटो तक विवाद चलता रहा। जिसकी भनक पुलिस को नहीं लगी। पुलिस ने मर्ग कायम करते हुए हत्या के आरोप में एक महिला और एक युवक को हिरासत में लिया गया है।  जानकारी के अनुसार फरियादी जितेंद्र मालवीय पिता रामप्रसाद मालवीय (23) निवासी दिक्षा नगर बागमुगालिया महनत मजदूरी कार्य करता है। उसने पुलिस को बताया कि मृतक मुकेश मालवीय उसका बड़ा भाई है। कृष्णा मालवीय उनका रिश्तेदार है। वह भी उसी घर में किराए से रहता है, जहां वह रहते हैं। कृष्णा की पत्नी व सामने रहने वाली रिश्तेदार मंजू मालवीय में बुधवार शाम को पानी भरने को लेकर विवाद हुआ था। जिसके बाद से ही दोनों परिवारों में तनाव का महौल था। गुरुवार को होली खेलने के बाद में कृष्णा ने अपने घर को धोया था। तब पानी फैलाने को लेकर मंजू और कृष्णा की पत्नी के बीच एक बार फिर विवाद हुआ। दोनों ओर से झूमाझटकी हुई। बीच-बचाव कर दोनों पक्षों को स्थानीय लोगों और रिश्तेदारों ने अलग कर दिया। कुछ देर बाद में मंजू ने अपने भांजे आशीष तथा उसके साथी दीपक वैध, जगेश गिरी व अन्य को बुला लिया। सभी आरोपी स्कॉरपियो क्रमांक एमपी 04सीजी4826 में सवार होकर आए थे। आरोपियों ने आते ही मंजू के साथ मिलकर कृष्णा के परिवार पर हमला किया। बीच बचाव में मुकेश चला गया। उसने दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया। इसी दौरान आरोपियों ने उसके साथ में मारपीट शुरु कर दी। आरोपी आशीष ने अपने पास रखी धारदार छुरी को मुकेश के पेट में घोंप दिया। घातक हमले मे उसकी उसकी आंते बाहर आ गई। परिजनों ने घायल को अस्पताल पहुंचाया। जहां डाक्टरों ने चेक करने के बाद में उसे मृत घोषित कर दिया। आला अधिकारियो ने बताया कि कृष्णा और मंजू आमने सामने रहते हैं। कृष्णा ने शाम को पानी फैला दिया था। जिसके बाद में मंजू के पति और उसके बीच विवाद हुआ। कृष्णा ने मंजू के पति से बदसलूकी कर दी। जिसके बाद में मंजू ने अपने रिश्तेदारों को बुलाकर उसके घर हमला किया था। इसी दौरान बीच बचाव में आए मुकेश की मंजू व साथियों ने हत्या कर दी। मामले में मंजू और आशीष नाम के युवक को हिरासत में ले लिया गया है।