लंदन । ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा यदि ब्रेक्जिट का उनका समझौता तीसरे प्रयास में पास कर दिया जाता है, तो वह पद छोड़ने को तैयार हैं। टेरिजा के ब्रेक्जिट संबंधी समझौते को ब्रिटिश संसद पहले ही दो बार खारिज कर चुकी है। अब वह अपनी कंजर्वेटिव पार्टी के बागियों को अपने पक्ष में करने के लिए आखिरी प्रयास कर रही हैं। टेरीजा मे ने कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों के साथ बैठक में कहा यदि उनके प्लान को मंजूरी मिल जाती है, तो वह पद छोड़ देंगी, ताकि नया नेता भविष्य में यूरोपीय यूनियन के साथ नए रिश्ते पर बातचीत को आगे बढ़ाए। उन्होंने कहा मैंने संसदीय दल की मंशा को स्पष्टता से समझ लिया है। मैं जानती हूं कि ब्रेक्जिट वार्ता के दूसरे दौर में नए अप्रोच और नए नेतृत्व की इच्छा है और मैं इस रास्ते में नहीं आऊंगी। 
ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरिजा मे के ब्रेक्जिट संबंधी समझौते को संसद पहले ही दो बार खारिज कर चुकी है, लेकिन संभावना है कि सरकार व्यवस्थित ब्रेक्जिट सुनिश्चित करने के लिए गुरुवार को तीसरी बार इस समझौते को पेश करेगी। यूरोपियन यूनियन (ईयू) नेताओं ने कहा यदि इस सप्ताह समझौता पारित हो जाता है, तो ब्रिटेन 22 मई को ईयू छोड़ सकता है और ऐसा नहीं होने पर उसे बिना किसी समझौते के 12 अप्रैल को ईयू छोड़ना होगा। 
ब्रिटेन के सांसदों ने ब्रेक्जिट प्रक्रिया में बड़ी भूमिका निभाने के लिए सोमवार को मतदान किया था, जिससे उन्हें ब्रेक्जिट के विभिन्न विकल्पों के लिए अपनी प्राथमिकता जाहिर करने का अधिकार मिल गया। सांसदों ने बुधवार को संसदीय कामकाज का नियंत्रण हासिल करने के लिए संपन्न मतदान में जीत हासिल कर ली। सांसदों के पास अब विभिन्न विकल्पों पर मतदान करने का मौका होगा जैसे कि अनुच्छेद 50 हटाना और ब्रेक्जिट रद्द करना, एक और जनमत संग्रह कराना या बिना समझौते के ही यूरोपीय संघ से अलग हो जाना। हालांकि, अगर सांसदों को बहुमत मिल भी जाता है तो भी सरकार उनके निर्देशों का पालन करने के लिए कानूनी रूप से बाध्य नहीं है।