भोपाल, मौसम का पारा बढऩे के साथ ही भोपाल का चुनावी पारा भी गर्मा गया है। गुरुवार को भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जमकर हमला बोला। प्रत्याशी बनाए जाने के बाद पहली प्रेस कांफ्रेंस में दिग्विजय ने कहा कि मैं 10 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहा, मुझपर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है। प्रदेश की भाजपा सरकार मेरे खिलाफ 15 साल तक षडय़ंत्र करती रही। जबकि पूर्ववर्ती सरकार में 13 वर्ष मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में ढेरों भ्रष्टाचार हुए। भाजपा के शासनकाल में प्रदेश में जितने भी घोटाले हुए हैं, उनमें मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह और उनका परिवार शामिल रहा है। दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान को चुनौती देते हुए कहा कि, मुझे बंटाधार कहते हैं। मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि खुले मंच पर आएं और अपने 15 साल और मेरे कार्यकाल को लेकर बहस करें। 
16 साल बाद लड़ रहा चुनाव 
दिग्विजय सिंह ने कहा कि इसके पहले मैं 2003 में चुनाव लड़ा था। इसके बाद अब लगभग 16 साल बाद चुनाव मैदान में हूं। उन्होंने कहा कि मैं आभारी हूं राहुल गांधी और कमलनाथ जी का जिन्होंने मुझे भोपाल सीट से चुनाव लडऩे के लिए चुना है। 
............
जनता इन्हें माफ नहीं करेगी : शिवराज
दिग्विजय सिंह के बयान के बाद शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दिग्विजय पर सवाल खड़े किये।  शिवराज ने दिग्विजय का नाम लिये बिना लिखा कि आतंकवादियों को सम्मानित करने वाले नेताओं को इस बार भी मैदान में हैं। गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह ने आतंकवादी लादेन को लादेन जी कहा था। शिवराज ने वीडियो के माध्यम से कहा कि जनता ऐसे नेताओं को माफ नहीं करेगी। 
............

हरवाने के लिए भोपाल आऊंगी: उमा 
दिग्विजय सिंह के शासन को उखाड़ फेंकने वाली केंद्रीय मंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने दिग्विजय पर हमला बोला है।  उमा ने कहा कि मैं भोपाल से चुनाव तो नहीं लड़ूंगी, लेकिन दिग्विजय सिंह को हारने के लिए प्रचार जरूर करूंगी।
.........

कांग्रेस को नहीं मिल रहे प्रत्याशी,इसलिए अभिनेत्री उतार रहे: सहस्त्रबुद्धे
भाजपा प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस के कुशासन का लोगों को मध्य प्रदेश में अनुभव हो गया है। लोग पछता रहे हैं, अब कह रहे हैं एक बार गलती हो गई दोबारा नहीं करेंगे। कांग्रेस को देश में उम्मीदवार नहीं मिल रहे हैं। इस वजह से ही अभिनेत्रियों को टिकट का आश्वासन देकर पार्टी में ला रहे हैं।