बीजिंग: चीन में युवा पीढ़ी की शादी में दिलचस्पी लगातार घटती जा रही है. आंकड़े बताते हैं कि चीन में शादी की दर में लगातार पांचवें साल कमी आई है.शादी की दर में कमी की वजह यह बताई जा रही है कि युवा पीढ़ी चाहे तो देर से शादी करना पसंद कर रहे हैं या उनकी शादी में दिलचस्पी कम होती जा रही है. नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स व नागरिक मामलों के मंत्रालय ने बताया कि विवाह की दर 2013 में प्रति 1,000 लोगों पर 9.9 फीसदी थी जो 2018 में घटकर प्रति 1,000 पर 7.2 फीसदी रह गई है, जोकि पिछले पांच साल का सबसे निचला स्तर है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, आंकड़े विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन जो क्षेत्र जितना अधिक विकसित है वहां विवाह की दर उतनी ही कम है. मतलब आज की युवा पीढ़ी को शादी के बंधन में बंधना जरूरी नहीं लगता है, क्योंकि ज्यादातर वयस्क एकाकी जीवन जीना पसंद करने लगे हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, चीन में एक धारणा प्रचलित है जिसमें कहा जाता है- " मैं उच्च गुणवत्ता का एकाकी जीवन पसंद करूंगा बजाय कि निम्न गुणवत्ता का वैवाहिक जीवन." विशेषज्ञ बताते हैं कि रहन-सहन और बच्चों की शिक्षा का खर्च बढ़ना भी एक कारण है जिसके चलते विवाह की दर में गिरावट देखी जा रही है.

झोंगनम यूनिवर्सिटी ऑफ इकॉनोमिक्स एंड लॉ के स्कूल ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एसोसिएट प्रोफेसर शी झीलेई ने कहा कि जनांकीकी संरचना में बदलाव भी विवाह की दर में गिरावट का कारण है.