भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र में भारत के मन की बात है। संकल्प पत्र 2019 में जनआकांक्षाओं के अनुरूप कार्ययोजना समाहित है। यह संकल्प पत्र घोषणा पत्र न होकर देश को आगे बढाने का विजन डाक्यूमेंट है। यह बात मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र 2019 पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।
आतंकवाद पर जीरो टालरेंस नीति
भार्गव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लिए हमेशा राष्ट्र सर्वप्रथम रहा है। इस नीति को हमने संकल्प पत्र में व्यक्त किया है।आतंकवाद और उग्रवाद के विरूद्ध जीरो टालरेंस नीति को आगे बढाया है। संकल्प पत्र में सुरक्षा बलों को फ्री हेंड दिए जाने की बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत इरादों को इंगित करता है। संकल्प पत्र मे एनआरसी लागू करने की बात घुसपेठियों की समस्या का निदान होगा।
हर वर्ग के लिए संकल्प पत्र में अलग कार्ययोजना
भार्गव ने कहा कि संकल्प पत्र में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण लोकसभा एवं विधानसभा में देने की बात महिला सशक्तिकरण के संकल्प को दर्शाती है। किसानों को क्रेडिट कार्ड पर एक लाख रूपए तक के लोन पर शून्य प्रतिशत ब्याज देने के साथ साठ साल की उम्र के बाद हर किसान को पेंशन सुविधा देने का संकल्प व्यक्त किया है। यह संकल्प किसानों को सुदृढ़ करने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।
- आजादी के 75 साल के लिए 75 संकल्प से नया भारत उदय होगा
भार्गव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संकल्प पत्र 2019 के साथ भारत की आजादी के 75 साल के लिए 75 संकल्प लिए है। कृषि, युवा एवं शिक्षण, बुनियादी ढांचे को मजबूत करने साथ स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, सुशासन और समावेशी विकास को लेकर व्यक्त किए गए इन 75 संकल्पों से नए भारत का उदय होगा।