नई दिल्ली । भारत की बैंकों को करोड़ों का चूना लगाकर विदेश भागे हीरा व्यवसायी नीरव मोदी को अभी लंदन के जेल में ही रहना होगा। वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने उसे जमानत देने से इनकार कर दिया और पुलिस हिरासत 24 मई तक बढ़ा दी जब मामले की अगली सुनवाई होगी। इससे पहले 29 मार्च को भी कोर्ट ने उसकी जमानत की अपील खारिज कर दी थी।  शुक्रवार को नीरव मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही कोर्ट में पेशी हुई थी। जज एम्मा अर्बथनॉट ने नीरव मोदी की जमानत याचिका पर दोनों पक्षों के वकीलों की दलीलें सुनीं और पुलिस हिरासत बढ़ाने का फैसला सुनाया। इधर, भारत में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नीरव और उसके मामा मेहुल चोकसी की 12 जब्त कारें बेच दीं। ईडी की तरफ से एमएसटीसी ने 13 लग्जरी कारों की बोली मंगाई थी, जिनमें 12 के ही खरीदार मिले। इन गाड़ियों की बिक्री से ईडी को 3.29 करोड़ रुपये प्राप्त हुए।  हीरा कारोबारी नीरव मोदी पिछले साल जनवरी में पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का पर्दाफाश होने से पहले ही भारत से भाग गया था। उसने पंजाब नेशनल बैंक के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से बैंक को 13 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाया।