दहेज में फार्च्‍यूनर कार के बजाय डिजायर गाड़ी को देख दूल्हे ने फेरे लेने से ही इंकार कर दिया। जैसेे-तैसे शादी कराई गई, लेकिन उसके बाद प्रताडऩा का दौर शुरू हो गया। हद तो तब हो गई जब पति की गैरमौजूदगी में देवर और ननदोई ने नशीला पदार्थ खिलाकर विवाहिता से दुष्कर्म किया और किसी को बताने पर वीडियो वायरल करने की धमकी दी। अब ससुरालियों, देवर व ननदोई को नामजद किया गया है।

ससुराल वालों पर भी दहेज उत्पीडऩ और मारपीट का केस दर्ज दर्ज

नारायणगढ़ निवासी पीडि़ता ने बताया कि उसकी शादी 19 अप्रैल 2017 को कुरुक्षेत्र के एक होटल में हुई थी। सगाई में 8 और शादी में करीब 12 लाख रुपये परिजनों ने खर्च किया था। शादी में लड़के वालों को दहेज में देने के लिए डिजायर कार खरीदी गई थी।

लड़के को पता लगा तो उसने शादी करने और फेरे लेने से इन्कार कर दिया। इसके बाद दुल्‍हन पक्ष के लोगों ने किसी तरह दूल्‍हे की मान-मनोव्‍वल कर उसे शादी के लिए राजी किया। शादी के अगले ही दिन विवाहिता को उसके ससुराल वालों ने उसकी ननदों के लिए सोने के सेट, ससुर के लिए डायमंड रिंग, देवर के लिए रिंग, बुआ के लिए सोने का सेट की मांग की। ससुराल वालों ने दहेज में कीमती सामान नहीं मिलने पर दुल्‍हन को प्रताडि़त करना शुरू कर दिया।

कमरे में बंद कर जान से मारने का प्रयास किया

9 नवंबर 2018 को उसके देवर ने रात के समय कोई नशीला पदार्थ दे दिया जिससे वह बेहोश हो गई। रातभर देवर ने उसके दुष्कर्म किया और वीडियो भी बनाई। जब होश आया तो देवर ने उसे वीडियो वायरल की धमकी दी। विवाहिता ने अपने पति व अन्य ससुराल वालों को बताया तो उन्होंने उसे कमरे में बंद कर जान से मारने का प्रयास किया। दो दिन बाद ही बंद कमरे में 11 नवंबर को उसका ननदोई आया और उसने भी दुष्कर्म किया और वीडियो बनाकर बाद में उसे दिखाकर धमकी दी।

मारपीट कर घर से निकाला

देवर व ननदोई ने बाहर से 2-3 अज्ञात युवक बुलाए और उसे कमरे में बंद करवा जान से मारने का प्रयास किया। किसी तरह उसने अपनी जान बचाई और परिजनों को बताया। उसके पिता व भाई यहां आए तो उनके साथ भी हाथापाई की गई। इसके बाद दोनों पक्षों में पंचायत हुई तो ससुराल वालों ने माफी मांगी, लेकिन इसके बाद भी उन्होंने पीडि़ता को परेशान करना बंद नहीं किया और अब मारपीट कर घर से ही निकाल दिया।