गोरखपुरः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोकसभा चुनाव की तैयारियों और बूथ अध्यक्ष सम्मेलन में शिरकत करने गोरखपुर पहुंचे. गोरखपुर संसदीय सीट का यह तीसरा बूथ अध्यक्ष सम्मेलन है. शहर विधानसभा का बूथ स्तरीय सम्मेलन आज  गोरखपुर के शिप्रा लाल में आयोजित किया गया है जिसमें बूथ कमेटी की सेक्टर संयोजक ,मंडल ,महानगर ,क्षेत्र और प्रदेश स्तर के पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 15 बूथों अध्यक्षों की अनुपस्थिति से नाराज भी दिखे और कहा कि आप लोग कागजी खानापूर्ति बंद करो. जो कार्य कर सकता हो उसे सक्रिय करो.

10 मई से पहले हर बूथ पर सक्रियता हो और सभी बड़े पदाधिकारी अपने बूथ पर बैलेट पेपर लेकर घर घर जाइये. हर बूथ पर एक बीजेपी और एक हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता हों.
गोरखपुरः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोकसभा चुनाव की तैयारियों और बूथ अध्यक्ष सम्मेलन में शिरकत करने गोरखपुर पहुंचे. गोरखपुर संसदीय सीट का यह तीसरा बूथ अध्यक्ष सम्मेलन है. शहर विधानसभा का बूथ स्तरीय सम्मेलन आज  गोरखपुर के शिप्रा लाल में आयोजित किया गया है जिसमें बूथ कमेटी की सेक्टर संयोजक ,मंडल ,महानगर ,क्षेत्र और प्रदेश स्तर के पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 15 बूथों अध्यक्षों की अनुपस्थिति से नाराज भी दिखे और कहा कि आप लोग कागजी खानापूर्ति बंद करो. जो कार्य कर सकता हो उसे सक्रिय करो.

10 मई से पहले हर बूथ पर सक्रियता हो और सभी बड़े पदाधिकारी अपने बूथ पर बैलेट पेपर लेकर घर घर जाइये. हर बूथ पर एक बीजेपी और एक हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता हों.

वहीं कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप प्राथमिकता के आधार पर बूथों को सक्रिय करें या फिर से गठन करें. बूथ चुनाव लड़ने की सबसे प्राथमिक इकाई है. पीएम कहते हैं कि बूथ जीता तो चुनाव जीता. अक्सर हमारा कार्यकर्ता अपने बूथ पर कार्य करने की बजाय सेक्टर या मंडल में घूमता है. जिसका कोई मतलब नही है. जिस दिन हर कार्यकर्ता, बूथ अध्यक्ष अपने बूथ को जीत गया उस दिन वह चुनाव जीत जाएगा. चुनाव अब अंतिम चरणों मे चल रहा है. पूरे देश की ताकत और विरोधी अब सातवे चरण में लगेंगे. बीजेपी की केंद्र और प्रदेश में सरकार है. इसके बाद भी कार्यकर्ता घर घर जाकर लोगों को बताए कि उन्होंने जरूर केंद्र और प्रदेश की उपलब्धियो का लाभ लिया होगा और उसके आधार पर उनको जोड़ें.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज आप कह सकते हैं कि गोरखपुर में एम्स बनने के साथ शुरू भी हो चुका है. फर्टिलाइजर कारखाना 90 में बंद हुआ था और अब तक 70 फीसदी काम हो चुका है और अगले साल तक शुरू हो जायेगा. आज बीआरडी कालेज में 8 सुपर स्पेशियलिटी वार्ड के साथ कई योजनाओं की शुरुआत हुई है. आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल का इस्तेमाल स्मार्टफोन से कीजिये. आप विकास कार्यों की सेल्फी लीजिये और लिखिए कि आप हंसिये की आप गोरखपुर में हैं. बदलता हुए गोरखपुर की तस्वीर वायरल कीजिये. जहां पर विकास कार्य हो, रचनात्मक कार्य हो वहां सेल्फी लीजिये.

जब बजरंगबली के बयान पर चुनाव आयोग ने प्रतिबंधित किया तो मैंने सोचा कि जहां बजरंगबली के मंदिर होंगे वहां जाऊंगा. अयोध्या में एक ऐसे परिवार ने मुझे आमंत्रित किया, जिसका आवास प्रधानमंत्री योजना से बना और उसने मुझे घरभोज के लिए आमंत्रित किया. मैं उसके घर गया तो उसने बताया कि मैंने कभी सोचा नही था कि मेरा अपना आवास होगा. पर आपकी योजना के कारण मुझे आवास मिला. वो परिवार काफी खुश था. गोरखपुर में भी हमने काफी आवास दिया है और आपको उन परिवारो से मिलने से 35 से 40 हजार वोट मिल जाएंगे. एक एक घर अगर प्रत्याशी जाए तो उसे 5 साल लग जाएंगे इसलिए हर कार्यकर्ता खुद को प्रत्याशी समझे और घर घर सम्पर्क करें. हमारी जो रणनीति बने वो कागजी नही बल्कि पुख्ता बने. अबकी बार मोदी सरकार की गूंज पूरे गोरखपुर में हो इसकी तैयारी की जाए.