नई दि‍ल्‍ली: सहकारी क्षेत्र में विश्व की सबसे बड़ी उर्वरक संस्था इफको ने अपने नए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुन लिए हैं. सहकारिता आंदोलन के प्रमुख नेता और मालवा फ्रूट एंड वेजिटेबल कॉपरेटिव मार्केटिंग-कम-प्रोक्‍योरमेंट सोसाइटी लिमिटेड के प्रमुख बलविंदर सिंह नकई को इफको का अध्‍यक्ष बनाया गया है. गुजरात स्‍टेट कॉपरेटि‍व मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड के प्रमुख दिलीप संघानी को उपाध्‍यक्ष चुना गया है.

इफको ने बताया कि लगभग 35 हजार सहकारी संघों के संगठन की 48वीं आमसभा की बैठक के दौरान हुए चुनावों में 21 निदेशक भी चुने गए हैं. इन निदेशकों ने अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का चयन किया है. बैठक में देश भर से सहकारी संघों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया. बलविंदर सिंह नकई तीन दशक से सहकारिता आंदोलन से जुड़े रहे हैं. वह इससे पहले दो वर्ष के लिए इफको उपाध्यक्ष रह चुके हैं. किसानों से संबंधित नीतियां निर्धारित करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

इफको दुन‍िया की सबसे बड़ी सहकारी समितियों में से एक
इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कॉपरेटिव लिमिटेड (IFFCO) 27852 करोड़ (वित्त वर्ष 2018-19 में) के कारोबार के साथ दुनिया की सबसे बड़ी सहकारी समितियों में से एक है. IFFCO के पांच संयंत्रों के साथ इफको उर्वरक का उत्पादन करता है. इसने 81.49 लाख मीट्रिक टन उर्वरकों का उत्पादन किया. इफको भारत में उत्पादित लगभग 36% फॉस्फेट और 21% नाइट्रोजन उर्वरकों में योगदान देता है. विश्व सहकारी मॉनिटर रिपोर्ट द्वारा दुनिया में शीर्ष 300 सहकारी समितियों (जीडीपी पर प्रति व्यक्ति आधार पर कारोबार) में पहले स्थान पर है.