इस्लामाबाद । पाकिस्तान सरकार ने शनिवार को एक बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत 11 ऐसे संगठनों पर प्रतिबंध लगाया गया है जो कि हाफिज सईद और अजहर मसूद से संबंधित हैं। प्रधानमंत्री इमरान खान और गृह मंत्री एजाज शाह की शुक्रवार को हुई बैठक के बाद जमात-उद-दावा, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन और जैश-ए-मोहम्मद से संबंध रखने वाले 11 संगठनों पर प्रतिबंध लगाया गया। जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत, लश्कर-ए-तैयबा सरगना और मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद से जुड़े संगठन हैं। जैश-ए-मोहम्मद आतंकी सरगना मसूद अजहर का संगठन है। दोनों सरगनाओं को वैश्विक आतंकी घोषित किया जा चुका है। गत 14 फरवरी को जम्मू--कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद इमरान ने कहा था कि वह किसी आतंकी संगठन को पाकिस्तानी जमीन इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं देंगे। यहां किसी भी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधि बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पाकिस्तान की नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी ने उन 7 संगठनों पर प्रतिबंध की घोषणा अपनी वेबसाइट पर की है, जिनका संबंध जमात-उद-दावा से है। पाकिस्तान सरकार ने इसी साल मार्च में जमात और फलाह-ए-इंसानियत पर गैरकानूनी करार दिया है।