बिलासपुर  कलेक्टर डॉ संजय अलंग ने आज यहां कलेक्टोरेट स्थित अपने कार्यालय में मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत से ही उज्जवल भविष्य की नींव तैयार होती है और मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता है। डॉ अलंग ने माध्यिमिक शिक्षा मंडल द्वारा जारी किये गये १०वीं और १२वीं के नतीजों में जिले से मेरिट सूची में आये बच्चों को पुष्प गुच्छ देकर उन्हें बधाई दी। उन्होंने मेरिट में आये सभी मेधावी बच्चों को प्रेरक किताबों का सेट प्रदान किया एवं मुंह मीठा कराया। उन्होंने कक्षा १०वीं में राज्य मेरिट सूची में आठवें स्थान पर रहीं कुमारी मानवी कौशिक, कक्षा १२वीं में तीसरे स्थान पर कुमारी विनीता पटेल एवं चौथे स्थान पर रहीं कुमारी क्षमा देवी राजपूत को शुभकामनाएं देकर उज्जवल भविष्य की कामना की। कलेक्टर ने शासकीय दृष्टि एवं श्रवण बाधितार्थ विद्यालय तिफरा के छात्र-छात्राओं को भी विद्यालय की मेरिट लिस्ट में आने पर सम्मानित किया। उन्होंने कक्षा १२वीं से दृष्टि बाधित छात्र रमेश ध्रुव ७० प्रतिशत, श्रवण बाधित कुमारी निशा लोधी ६६ प्रतिशत, तथा कक्षा १०वीं में दृष्टि बाधित अनिल कुमार सूर्यवंशी ७८ प्रतिशत, ललित कुमार पुरोहित ७५ प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर हौसलाफजायी की। कलेक्टर ने मेधावी छात्र-छात्राओं के माता-पिता और शिक्षकों को भी बधाई दी और कहा कि बच्चों की सफलता में उनका भी महत्वपूर्ण योगदान है। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ रीतेश अग्रवाल, अपर कलेक्टर बी एस उइके, जिला शिक्षा अधिकारी आर एन हीराधर, संयुक्त संचालक समाज कल्याण एच खलको, आर के पाठक, श्रीमती बबीता कमलेश, सुनील मिश्रा, प्रशांत मोकाशे, संतोष देवांगन एवं अभिभावकगण उपस्थित रहे।