कोरबा । लोकसभा निर्वाचन 2019 अतंर्गत 23 मई को होने वाले मतगणना को लेकर आयोजित बैठक में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने चुनाव लड़ रहे सभी अभ्यर्थियों व मतगणना स्थल हेतु अधिकृत अभिकर्ताओं को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।
 कलेक्टर सभाकक्ष में आयोजित बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने मतगणना स्थल पर किये गये व्यवस्थाओं की जानकारी देते हुये बताया कि आईटी कालेज झगरहा में मतगणना स्थल पर प्रवेश के लिए अधिकृत प्रवेश पत्र की व्यवस्था की गई है। मतगणना परिसर पर बिना पास के प्रवेश नही दी जायेगी। मतगणना कक्ष पर मोबाइल सभी के लिए वर्जित है। मतगणना स्थल पर सम्पूर्ण गतिविधियों की वीडियो रिकार्डिंग की जायेगी। 
 प्रत्याशी, मतगणना एजेंट, मतगणना कर्मी सहित किसी भी अधिकारी या कर्मचारी या मीडिया प्रतिनिधि मतगणना स्थल में मोबाइल फोन सहित कोई भी इलेक्ट्रानिक गेैजेट, पेन ड्राइव, पेन, तम्बाकू, पान, सिगरेट नहीं ले जा सकेंगे। आयोग द्वारा प्रदत्त प्राधिकारपत्रधारी मीडिया प्रतिनिधियों के लिए मतगणना केन्द्र में एक मीडिया सेंटर भी होगा। 
 सुरक्षा के होंगे पुख्ता प्रबंध- बैठक में बताया गया कि मतगणना परिसर के बाहर चारों ओर 100 मीटर परिधि के क्षेत्र को पैदल यात्री क्षेत्र के रूप में निर्धारित कर गणना परिसर के प्रवेश द्वारों को विधिवत अवरूद्ध किया जायेगा साथ ही इस क्षेत्र में किसी भी वाहन को पार करने की अनुमति नही होगी। त्रिस्तरीय घेराबंदी प्रणाली, पैदल यात्री क्षेत्र से प्रारंभ प्रथम व बाह्यतम घेरे में प्रवेशकर्ताओं की पहचान की जांच करने के लिए एक वरिष्ठ मजिस्ट्रेट के साथ पर्याप्त स्थानीय पुलिस बल होगी, जिसे पार करने की अनुमति केवल ईसीआई अथवा डीईओ द्वारा पहचान पत्र जारी किए गए व्यक्तियों को ही होगी। द्वितीय घेरा गणना परिसर के द्वार पर होगा तथा राज्य सशस्त्र पुलिस बल द्वारा सुरक्षित होगा। पहचान की जांच तथा तलाशी का कार्य केवल राज्य पुलिस कर्मियों द्वारा ही किया जायेगा। तृतीय घेरा गणना हाल के द्वार पर होगा जहां सीपीएफ मौजूद होंगे व तलाशी लेकर यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी मोबाईल अथवा अन्य निषिद्ध सामग्रियों के साथ प्रवेश न कर पायें।
गणना केंद्र में बैठक व्यवस्था - गणना कक्ष में अभिकर्ताओं के लिए बैठक व्यवस्था सुनिश्चित की गई है जिसमें प्राथमिकता अनुसार मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय दलों के अभ्यर्थियों के अभिकर्ता, मान्यता प्राप्त राज्य दलों के अभ्यर्थियों के अभिकर्ता, अन्य राज्यों के मान्यता प्राप्त राज्य दलों के अभ्यर्थियों के अभिकर्ता जिन्हें आरक्षित प्रतीक के उपयोग की अनुमति प्राप्त हो। पंजीकृत अमान्यता प्राप्त दलों के अभ्यर्थियों के अभिकर्ता, निर्दलीय अभ्यर्थियों के अभिकर्ता बैठेंगे। गणना हाल में अभिकर्ता आबंटित टेबल पर बैठेंगे। गणना परिसर में आरओ/पे्रक्षक के अतिरिक्त मोबाईल फोन ले जाने की अनुमति किसी को नहीं होगी। अभिकर्ताओं को हाल में घूमने की अनुमति नहीं होगी। प्रतिभागी अभ्यर्थी के स्थान पर केवल एक व्यक्ति-अभ्यर्थी/अभिकर्ता ही टेबल पर उपस्थित होना चाहिए। यदि आरओ को किसी व्यक्ति पर संदेह हो तो अधिकृत पत्र होने के बावजूद आरओ उसकी तलाशी ले सकता है। पुलिस कर्मी गणना हाल के द्वार पर तैनात रहेंगे। आरओ की अनुमति के बिना कोई भी व्यक्ति हाल में प्रवेश अथवा निकास नहीं कर सकता। आरओ किसी को भी हाल से बाहर भेज सकता है, यदि वे आरओ की आज्ञा की अवहेलना करते हैं।
बैठक में बताया गया कि मतगणना दिवस को प्रातः 8 बजे से गणना प्रारंभ की जायेगी। सर्वप्रथम डाक मतपत्रों की गणना प्रारंभ की जायेगी। इससे पहले डाकमत पत्रों को लिफाफे से अलग किया जायेगा। डाक मत पत्रों के लिए प्रत्याशियों को अलग से दो एजेंट नियुक्त करना होगा। कंट्रोल यूनिट के वोटो की गणना के लिये कुल 14 टेबल विधानसभावार लगायी जायेगी। इसके लिये अभ्यर्थी प्रत्येक टेबल पर अपना एक निर्वाचन अभिकर्ता नियुक्त कर सकता है। रेण्डम आधार पर हर विधानसभा के किसी पांच मतदान केंद्र के वीवीपैट मशीन की पर्चियों की गणना अनिवार्य रूप से की जायेगी। बैठक में आग्रह किया गया कि मतगणना स्थल पर प्रत्याशी,एजेंट सभी नियमों का पालन करे। बैठक में डाकमतपत्रों की गणना एवं इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन से होने वाली गणना में उपस्थित होने वाले एजेंट के लिए  आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक  राउण्ड की गिनती समाप्त होने के पश्चात ही दूसरे राउण्ड की गिनती प्रारंभ की जायेगी। बैठक में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि तथा अभ्यर्थीगण,रिटर्निंग अधिकारी,सहायक रिटर्निंग अधिकारी उपस्थित थे।