इस्लामाबाद : आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले पाकिस्‍तान पर इन दिनों नया संकट मंडरा रहा है. दिनोंदिन कंगाल हो रहे पाकिस्‍तान में अब वहां की मुद्रा रुपया भी टूट रहा है. हालत यह है कि पाकिस्‍तानी रुपया गुरुवार को अमेरिकी डॉलर के आगे घुटने टेकते हुए अब तक के सबसे निचले स्‍तर पर पहुंच गया है. पाकिस्तान सरकार की पिछले सप्ताह अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) के साथ छह अरब डॉलर के राहत पैकेज पर शुरुआती सहमति बनी है.

गुरुवार की सुबह पाकिस्तानी रुपया डॉलर के मुकाबले 147 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया. इससे पहले रुपया इसी सप्ताह 141 प्रति डॉलर पर आया था. पिछले सप्ताह आईएमएफ के साथ शुरुआती करार में पाकिस्तान ने बाजार आधारित विनिमय दर का अनुपालन करने की सहमति दी थी. फिलहाल पाकिस्तान का केंद्रीय बैंक विनिमय दरों को नियंत्रित करता है.
विशेषज्ञों का मानना है कि पाकिस्‍तान पर आया यह संकट अभी टलने वाला नहीं है. आने वाले दिनों में पाकिस्‍तानी रुपया और भी टूट सकता है. इससे वहां महंगाई बढ़ेगी और पाकिस्‍तान में होने वाले आयात पर बुरा असर पड़ेगा.

भारतीय शेयर बाजार में उछाल
वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के दाम में तेजी आने के बावजूद घरेलू शेयर बाजार में तेजी लौटने से गुरुवार को अंतर बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया 31 पैसे के जोरदार उछाल के साथ 70.03 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ. रुपया लगातार तीसरे कारोबारी सत्र में चढ़ा है. इन तीन दिन में रुपया कुल 48 पैसे बढ़ा है.

अन्तरबैंक विदेशी विनिमय बाजार में रुपया 70.26 पर खुला. कारोबार के दौरान यह 69.99 की ऊंचाई को छूने के बाद समाप्ति पर पिछले बंद के मुकाबले 31 पैसे का उछाल दर्शाता 70.03 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ. इससे पहले बुधवार को रुपया 70.34 रु प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.