पटना. राजधानी पटना की रहने वाली जन्म से सिर से आपस में जुड़ी दो बहनों ने समनपुरा पोलिंग बूथ पर मतदान किया। दोनों ने अपने-अपने पसंदीदा प्रत्याशियों को वोट डाला। सबाह और फराह का 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में एक ही मतदाता पहचानपत्र था। इसलिए उनका एक ही वोट माना गया था।

दोनों के विचार और पसंद अलग-अलग हैं: जिलाधिकारी
दोनों बहनों का नाम बिहार की पटना साहिब लोकसभा सीट के दीघा विधानसभा क्षेत्र में मतदाता के रूप में पंजीकृत है। जुड़वा बहनें गरीब परिवार से हैं। हाल ही में दोनों बहनों की कहानी चुनाव आयोग ने ट्विटर पर से साझा की थी। पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा था कि दोनों बहनों को उनकी शारीरिक स्थिति के चलते उनकी अलग-अलग पहचान से वंचित नहीं किया जा सकता। उनका दिमाग अलग-अलग है, अलग-अलग विचार और पसंद भी इसलिए बाद में उन्हें अलग-अलग मतदाता पहचानपत्र जारी किए गए हैं।

दोनों को अलग करने के लिए बहुत प्रयास किए
 दोनों को अलग करने सर्जरी के लिए दिल्ली एम्स ले जाया गया था, चिकित्सकों ने उन्हें अलग-अलग करने के बहुत प्रयास किये, लेकिन जांच के बाद डॉक्टरों का कहना था कि दोनों की जान को खतरा हो सकता है। इस वजह से उऩकी सर्जरी करना बहुत कठिन है। उच्चतम न्यायालय ने राज्य सरकार को दोनों बहनों को पांच हजार रुपये महीना देने का निर्देश दिया था। जिसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर बढ़ाकर 20 हजार रुपये कर दिया।

सलमान खान दोनों बहनों से कर चुके हैं मुलाकात
सबाह और फराह दोनों अभिनेता सलमान खान की प्रशंसक हैं। सलमान उन्हें अपने खर्च पर विमान के जरिए मुंबई बुलाकर उनसे मुलाकात कर चुके हैं। मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक दोनों बहनों से सलमान ने राखी भी बंधवाई थी। इसके एवज में उन्होंने दोनों बहनों को 50 हजार रुपए दिए थे।  (23 मई को देखिए सबसे तेज चुनाव नतीजे भास्कर APP पर)