सरकार के फैसले की घड़ी आज
नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा के गठन के लिए देशभर में 7 चरणों में हुए मतदान की मतगणना गुुरुवार आठ बजे से शुरू होगी। निर्वाचन आयोग ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। गौरतलब है कि सत्रहवीं लोकसभा के तहत 542 सीटों और चार राज्यों की विधानसभाओं के लिए हुये मतदान हुआ है। गुरुवार सुबह आठ बजे से शुरू होने वाली मतगणना के लिए देश भर में बनाये गये मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा की सख्त व्यवस्था की गई है। हर केंद्र में बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिये गये हैं। आयोग ने इस बार परिणाम को तेजी से अपडेट करने के लिए 'वोटर हेल्पलाइन ऐपÓतैयार किया है, जबकि वेबबसाइट पर भी परिणाम देखे जा सकेंगे। 19 मई को आए तकरीबन सभी प्रमुख एक्जिट पोल में भाजपानीत राजग (एनडीए) को बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया है। सुबह से शुरू होने वाली मतगणना के संपूर्ण परिणाम आने में समय लग सकता है। सरकार किसकी बनेगी, यह स्थिति देर रात तक ही साफ हो पाएगी।


4 राज्यों में लोकसभा चुनाव
सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में लोकसभा चुनाव हुए थे। इसके साथ ही चार राज्यों-आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्कम और अरुणाचल प्रदेश की विधानसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल से 19 मई के बीच मतदान हुआ था।

परिणाम में देरी :  वीवीपैट पर्चियों का सत्यापन
चुनाव आयोग ने कहा है कि वीवीपैट पर्ची से वोटों के मिलान और सत्यापन के लिए 5 मतदान केंद्रों को औचक आधार पर चुना जायेगा। इस प्रक्रिया में चार से पांच घंटे का समय लग सकता है।

22 दलों की मांग ठुकराई, पूर्ववत होगी मतगणना
आयोग के अनुसार मतों की गिनती पूर्व के चुनावों की भांति ही होगी। गिनती पूरी होने के बाद ही वीवीपैट पर्चियों का मिलान किया जायेगा। 22 राजनीतिक दलों ने मतगणना शुरू होने के समय वीवीपैट की पर्चियों का ईवीएम से मिलान करने की मांग रखी थी, जिसे आयोग ने ठुकरा दिया। गौरतलब है कि कांग्रेस के नेतृत्व में मंगलवार को 22 राजनीतिक दलों ने मतगणना शुरू होने पर पहले वी वी पैट पर्चियों का मिलान की मांग रखी थी। दलों ने कहा था कि गड़बड़ी की आशंका पर उस पूरे विधानसभा क्षेत्र की वीवीपैट की पर्चियों का मिलान ईवीएम से कराया जाये। 

कांग्रेस ने आयोग पर उठाये सवाल
कांग्रेस ने फिर ईवीएम पर सवाल खड़े किये हैं। चुनाव आयोग द्वारा मतगणना के समय पहले वोटर वेरिफायेबल पेपर ऑडिट ट्रायल्स (वीवीपैट) की पर्चियों का मिलान इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से कराने की 22 विपक्ष दलों की मांग ठुकराने के बाद कांग्रेस ने इस काला दिवस बताया है। कांग्रेस ने कहा -'कमजोरÓ चुनाव आयोग ने यह कमजोर निर्णय लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अब तक पार्टी को आयोग की तरफ से इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी है, लेकिन मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार आयोग ने वीवीपैट की पर्चियों का मिलान पहले कराने की मांग अस्वीकार कर दी है। 

ईवीएम का विरोध, जनता का अनादर
ईवीएम पर सवाल खड़े होने पर भाजपा ने कांग्रेस को घेरा। अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट किया कि इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का विरोध देश की जनता के जनादेश का अनादर है। हार से बौखलाई 22 विपक्षी पार्टियां देश की लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर सवालिया निशान उठा कर विश्व में देश और लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रही है। शाह ने  भारतीय जनता पार्टी ने विपक्ष के लोकसभा चुनाव परिणाम अनुकूल नहीं आने पर 'हथियार उठानेÓ और 'खून की नदियां बहनेÓ जैसे बयान देने पर भी चिंता व्यक्त की।


डरना नहीं, डटे रहना : राहुल
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मतगणना से एक दिन पहले सभी कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि 'फर्जी एग्जिट पोलÓ से निराश नहीं हों और सतर्क रहें। राहुल ने ट्वीट किया- कांग्रेस पार्टी के प्रिय कार्यकर्ताओं, अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। सतर्क और चौकन्ना रहें। डरे नहीं। आप सत्य के लिए लड़ रहे हैं। फर्जी एग्जिट पोल के दुष्प्रचार से निराश न हों। खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें, आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी। जय हिन्द।Ó


गृह मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट
मतगणना के दिन देश के कई हिस्से में हिंसा हो सकती है। इससे निपटने के लिए गृहमंत्रालय ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा पुलिस महानिदेशकों से मतगणना के दिन कानून व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश जारी किये हैं। 

विपक्ष ने दी खून-खराबा की धमकी
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने मतगणना से पहले विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि ईवीएम के जरिए चुनाव को प्रभावित करने की साजिश हुई तो खून-खराबा हो सकता है। 

................
मध्यप्रदेश की 29 सीटों से उठेगा पर्दा, पूरी रात भर चलेगी मतगणना
भोपाल। मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में हार-जीत की तस्वीर भी आज देर रात तक साफ हो जाएगी। प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच टक्कर है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने  बताया कि ऐसे जिस लोकसभा क्षेत्र में 20 से ज्यादा राउंड में मतगणना होना है और 20 से ज्यादा प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं तो वहां मतगणना रातभर चलने के आसार हैं। 

एक नजर में खबर
- 29 जिला मुख्यालयों में मतगणना होगी
- 08 बजे पोस्टल बैलेट की गिनती होगी
- 8.30 बजे से ईवीएम की गिनती शुरू होगी
-15 हजार कर्मचारी करेंगे वोटों की गिनती
-913 सहायक रिटर्निंग ऑफिसर 
-9 हजार सुरक्षा कर्मी तैनात
- 1800 सीसीटीवी से निगरानी