अगर आपने इतिहास से उच्चशिक्षा हासिल की है तो भी आप बेहतर कैरियर बना सकते हैं। यह सही है कि इतिहास से स्नातक करने वाले छात्रों के लिए रोजगार के अवसर अपेक्षाकृत कम हैं, परन्तु फिर भी कई अवसर आपके पास उपलब्ध हैं। सबसे पहले प्रतियोगी परीक्षा जैसे स्टेट सिविल सेवा, बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर, रेलवे, कंबाइंड डिफेंस सर्विस के रास्ते इतिहास स्नातकों के लिए खुले हैं।
आप हर उस गैर तकनीकी सेवा में जाने की योजना बना सकते हैं, जिसमें प्रवेश के लिए स्नातक की डिग्री आवश्यक है। इस प्रकार की रिक्तियों की जानकारी के लिए नियमित रूप से रोजगार समाचार देखते रहें। अन्य विकल्प के तौर पर देश के विभिन्न संग्रहालय ऐसे पोस्ट-ग्रेजुएट्स को खोजते हैं, जिन्होंने इतिहास या संग्रहालय विज्ञान में स्नातकोत्तर की पढ़ाई की है। ऐसे छात्रों को संग्रहालयों और आर्ट गैलरी में रिकॉर्ड इन्फॉर्मेशन ऑफिसर, म्यूजियम क्यूरेटर, रिकॉर्ड मैनेजर, आर्किविस्ट जैसे पदों पर नियुक्त किया जाता है। इस प्रकार की रिक्तियों की जानकारी के लिए नियमित रूप से देश भर के विभिन्न संग्रहालयों की वेबसाइट देखते रहें।
इसके अलावा ट्रेवल एंड टूरिज्म का क्षेत्र करियर के लिहाज से हिस्ट्री ग्रेजुएट्स के लिए अधिक कारगर है, क्योंकि ऐसे छात्रों को देश के विभिन्न ऐतिहासिक स्थानों की गहन जानकारी होती है और वे उन जगहों के बारे में अपेक्षाकृत अधिक विस्तार से पर्यटकों को बता सकते हैं। भारतीय इतिहास की अच्छी जानकारी रखने वाले छात्र को जहां एक ओर ट्रैवल एंड टूरिज्म कंपनियों में ट्रिप एडवाइजर की नौकरी आसानी से मिल जाती है, वहीं दूसरी ओर स्वरोजगार में रुचि रखने वाले स्नातक अपनी स्वयं की भी टूर एंड ट्रैवल एजेंसी स्थापित कर सकते हैं। इनके अतिरिक्त टीचिंग, लॉ, एमबीए, पब्लिक रिलेशन, इवेंट मैनेजमेंट और पत्रकारिता - ये कुछ अन्य ऐसे सामान्य करियर विकल्प हैं, जो इतिहास में स्नातक कारने वालों के लिए खुले हुए हैं।