अलीगढ़ । नगर निगम की आय में वृद्धि को लेकर संवेदनशील नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल ने कार्यालय में गृहकर की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में नगर आयुक्त ने गृहकर छूट को लेकर अधिकारियों के फीडबैक के आधार पर 30 जून तक 10 प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया और कहा कि 30 जून के पश्चात् कोई छूट मान्य नहीं होगी।  
नगर आयुक्त ने समीक्षा बैठक में वसूली में बढोहत्तरी के लिये अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुये प्रति माह जोन वाइज 4.00 करोड़ रूपये की वसूली का लक्ष्य निर्धारित किया। समीक्षा बैठक में नगर आयुक्त ने सभी विभागाध्यक्षों को अनावश्यक खर्चो में प्राथमिकता पर कटौती करने के निर्देश दिये। गृहकर बिल वितरण के लिये नगर आयुक्त ने सम्बन्धित जोनल अधिकारी को सख्त हिदायत देते हुये आने वाले एक सप्ताहा में इलैक्शन माडॅल के आधार पर बिल वितरीत कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि नगर निगम गृहकर बिल वितरण का कार्य इलैक्शन के समय बीएलओ द्वारा पर्ची बॉटने की तरह सर्वोच्च प्राथमिकता पर कराया जाये बिल वितरण में लापरवाही बररते वाले कार्मिकध्अधिकारियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी। 
नगर आयुक्त ने कहा कि 30 जून तक 10 प्रतिशत की छूट का लाभ उठाकर शहरवासी अधिक से अधिक अपने देयकों का भुगतान नगर निगम में करें निर्धारित तिथि के बाद कोई छूट नहीं दी जायेगी। 
बैठक में मुख्य अभियन्ता कैलाश सिंह मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय कुमार राय, कर निर्धारण अधिकारी आरपी सिंह, कर अधीक्षक सभापति यादव, राजेश गुप्ता सहित सभी राजस्व निरीक्षक आदि मौजूद थे।