लंदन । बहुपयोगी फल अंजीर कई पोषक तत्वों से भरा होता है। यह फल सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद माना जाता है। सूखा अंजीर पूरे साल बाजार में मिलता है और इसका स्वाद भी मीठा होता है। आप चाहें तो अंजीर को सुबह के नाश्ते में खा सकते हैं या फिर दूध और पानी में रात भर भिगोकर सुबह इसका सेवन कर सकते हैं। अंजीर को फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत कहा जाता है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ अक्सर वजन प्रबंधन से जुड़े होते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक फाइबर युक्त डायट अतिरिक्त वजन बढ़ाने में मदद कर सकती है। लेकिन सूखे अंजीर में कैलरी की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए उसे नियमित रूप से अपने कम कैलरी वाले आहार में शामिल करें। चूंकि अंजीर फाइबर से भरपूर होता है और इसमें ऑक्सलेट का स्तर ज्यादा पाया जाता है, जो हमारे पाचन में मददगार होता है। लेकिन इसे कम मात्रा में खाया जाना चाहिए क्योंकि अंजीर के ज्यादा सेवन से शरीर पर लैक्सेटिव प्रभाव हो सकता है। अंजीर, ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करने में भी मदद करता है। ट्राइग्लिसराइड्स वसा कण होते हैं, जो रक्त प्रवाह में प्रसारित होते हैं और यह हृदय रोगों का एक प्रमुख कारण हैं। अंजीर में मौजूद उच्च पोटैशियम सामग्री शरीर से मुक्त कणों को खत्म करके रक्तचाप को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है। निम्न रक्तचाप भी कोरोनोरी हृदय रोगों को दूर रखता है। इसके अतिरिक्त अंजीर ओमेगा 3, 6 फैटी एसिड से समृद्ध होता हैं, जिन्हें स्वस्थ दिल के लिए जरूरी माना जाता है। सूखा अंजीर कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है। अपने आहार में अंजीर को शामिल कर हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए कैल्शियम के वैकल्पिक स्रोत के रूप में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। अमेरिकन डायबीटिक असोसिएशन के अनुसार, अंजीर में पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होती है और इनका नियमित सेवन आपके रक्त में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित रख सकता है। अंजीर में पाया जाने वाला क्लोरोजेनिक एसिड, शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता है और टाइप-2 डायबीटीज में ब्लड-ग्लूकोस के स्तर को भी नियंत्रित करता है।