लंदन । कपल्स के बीच करीबी घटने की मुख्य वजह भागदौड़ भरी मॉडर्न लाइफ है। ब्रिटिश कपल्स कम सेक्स कर पा रहे हैं लेकिन उन्हें ज्यादा की चाहत रहती है। आधे से भी कम लोग हफ्ते में एक बार सेक्स करते हैं वहीं जो लोग शादीशुदा हैं या पार्टनर के साथ लिवइन में हैं उनमें भी सेक्स की फ्रीक्वेंसी में तेजी से कमी आई है। यह कहना है ताजा अध्ययनकर्ताओं का।अध्ययन में  35 से 44 साल के की महिलाओं ने बताया कि उनके सेक्स करने की दर महीने में 4 से 2 पर पहुंच गई है। वहीं पुरुषों ने बताया कि उनके लिए यह संख्या 4 से 3 पर आ गई। लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन ऐंड ट्रॉपिकल मेडिसिन की 20 साल की स्टडी के मुताबिक, बीते 10 साल में महीने में 10 बार सेक्स घटकर आधा रह गया है। इस रीसर्च को लीड करने वाले प्रफेसर वेलिंग्स का कहना है कि स्टडी में आधे से ज्यादा पुरुष और महिलाओं ने कहा कि वे ज्यादा सेक्स करना चाहते हैं। ज्यादातर ने ऐसा न कर पाने की वजह स्ट्रेस बताई। सोशल मीडिया की लत और ग्लोबल रिसेशन भी ऐसे फैक्टर्स हैं जिनसे कपल्स की लव लाइफ पर असर पड़ा है। लेकिन स्टडी में कुछ पॉजिटिव बातें भी सामने आईं जैसे कि ज्यादातर कपल्स को यह लगता है कि उन्हें बेडरूम में ज्यादा इंटिमेट होने की जरूरत है। नतीजों से यह भी सामने आया कि ज्यादातर लोगों को लगता था कि दूसरे उनसे ज्यादा सेक्स करते हैं लेकिन यह सच नहीं था।प्रफेसर वेलिंग्स बताते हैं कि कपल्स मॉडर्न लाइफ की रफ्तार से कदम मिलाने में उलझे नजर आए। ज्यादातर 'सैंडविच जनरेशन' का हिस्सा बन चुके हैं जो कि काम, बच्चे और अपने बुजुर्ग मां-बाप की जिम्मेदारियों के बीच फंसे हैं।