नई दिल्‍ली : उत्‍तर और मध्‍य भारत के लोगों को गर्मी से जल्‍द निजात मिलती नहीं दिख रही है. मौसम विभाग के अनुसार आज से अगले 3 दिन राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश और महाराष्‍ट्र के विदर्भ क्षेत्र में भीषण लू चलेगी. साथ ही इससे गर्मी का प्रकोप और बढ़ेगा. 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है. आज और कल दिल्‍ली के लोगों को भी गर्मी से राहत की कोई संभावना नहीं है. मौसम विभाग ने शनिवार को यह जानकारी दी. दिल्‍ली में अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का संभावना है. हालांकि मौसम का हाल बताने वाली निजी संस्था स्काईमेट वेदर ने पारा 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना जताई है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने दिन भर आकाश साफ रहने की संभावना जताई.
भारतीय मौसम विभाग के अनुसार बड़े क्षेत्र में जब तापमान लगातार दो दिन तक 45 डिग्री सेल्सियस तक रहता है तो लू की स्थिति घोषित की जाती है. वहीं जब लगातार दो दिन तक तापमान 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाए तो इसे गंभीर लू माना जाता है. 
वहीं लगभग एक सप्ताह की अनुमानित देरी के बाद दक्षिण पश्चिमी मानसून ने केरल तट पर शनिवार को दस्तक दे दी है. दक्षिण पश्चिम मानसून ही उत्तर और मध्य भारत सहित देश के अधिकांश इलाकों में लगभग चार महीने तक चलने वाली बारिश की ऋतु का वाहक माना जाता है.  मौसम विभाग के नवनियुक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने मानसून के पूर्वानुमान के मुताबिक आठ जून को केरल तट पर पहुंचने की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि केरल के तटीय इलाकों में अच्छी मात्रा में मानसून की पहली बारिश दर्ज की गई.

विभाग ने पिछले महीने दक्षिण पश्चिमी मानसून के केरल तट पर छह जून को पहुंचने का पूर्वानुमान व्यक्त किया था लेकिन हवा के कम दबाव का क्षेत्र बनने में देरी के कारण मानसून की आमद में दो दिन का विलंब हो गया. देश में मानसून के दस्तक देने की खबर, भीषण गर्मी, कृषि संकट और जलाशयों के तेजी से गिरते जलस्तर की चिंता से राहत देने वाली साबित होगी.