नई दिल्ली: पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यक हिंदुओं की हालत बेहद खराब है. इस बार वहां की एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो बयां कर रही है कि वहां हिंदुओं के साथ जानवरों जैसा सलूक किया जा रहा है. पाकिस्तान में सिंध के टांडो मोहम्मद ख़ान में 7 जून को 13 साल की हिंदू बच्ची के साथ दिल-दहला देने वाला अत्याचार हुआ है.

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार 13 साल की बच्ची घर से सामान ख़रीदने निकली थी. रास्ते में कुछ गुंडों ने इसे अगवा कर लिया. इसके बाद उसे जबरदस्ती शराब पिला दी. जब बच्ची शराब के नशे में आ गई तो उन गुंडों ने उसके साथ गैंगरेप किया. बच्ची काफी देर तक घर नहीं लौटी, तो पिता और भाई ढूंढने निकले. तब ये बच्ची बदहवास हालत में एक खुले मैदान में मिली. शराब के नशे में गैंगरेप के बाद उसकी हालत बेहद खराब हो चुकी थी. वह मैदान में अजीबो-गरीब हरकतें कर रही थी. बच्ची को इस हालत में देखकर परिवार वालों के होश उड़ गए.
पुलिस ने लड़की के बयान के आधार पर रिपोर्ट दर्ज़ की है. पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक 2 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है, लेकिन आरोप है, कि पुलिस ने उन्हें बचाने के लिए हल्की धाराएं लगाई हैं. आरोप है कि बलात्कार में शामिल बाकी गुंडों को बचाया जा रहा है. सिंध में ही ऑपरेशन बालाकोट के बाद कई हिंदू लड़कियों का अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा चुका है.

इससे पहले 27 मई को सिंध में ही हिंदुओं के खिलाफ जबर्दस्त हिंसा हुई थी. सिंध में हिंदू डॉक्टर रमेश कुमार पर ईश निंदा का आरोप लगा. इसके बाद डॉक्टर रमेश के साथ इलाके के सभी हिंदू परिवारों के ख़िलाफ़ जबर्दस्त हिंसा हुई थी.