नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 (Loksabha election 2019) चुनाव के बाद से लगातार पश्चिम बंगाल में हिंसा हो रही है। राज्य में कई नेताओं की हत्या हो चुकी है। भाजपा नेता मुकुल रॉय ने इस पर बयान देते हुए कहा कि टीएमसी नेताओं द्वारा बशीरहाट के संदेशखली में हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया और हमारे चार कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी। उन्होंने आगे कहा कि उनके नेता और मुख्यमंत्री आतंक में लिप्त है। 

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव  कैलाश विजयवर्गीय ने भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या पर कहा कि उन्होंने  केंद्रीय गृह मंत्री से इस बारे में रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि केंद्र इसे गंभीरता से लेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि इस घटना को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है।
मुकुल रॉय ने आगे बताया कि भाजपा सांसदों की एक टीम कल संदेशखली का दौरा करेगी और गृह मंत्री को एक रिपोर्ट भेजेगीष साथ ही उन्होंने कहा कि हम इसका लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करेंगे। गौरतलब, है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद भी सियासी हिंसा का दौर जारी थमा नहीं है।

शनिवार शाम को उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली इलाके में झंडा खोलने को लेकर तृणमूल और भाजपा समर्थकों में जमकर संघर्ष हुआ । इसमें तीन लोगों के मारे जाने की खबर है। उत्तर 24 परगना जिला तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष व मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने दावा किया कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता कयूम मोल्ला की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। वहीं, प्रदेश भाजपा महासचिव सायंतन बसु ने दावा किया है कि भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है और दो लापता हैं। पुलिस की ओर से मरने वालों की संख्या को लेकर कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। 

बताया जा रहा है कि भाजपा का झंडा खोलने को लेकर तृणमूल व भाजपा समर्थकों के बीच विवाद शुरू हुआ। देखते ही देखते विवाद गहराता चला गया। इस बीच वहां दोनों गुटों के लोगों के बीच हाथापाई शुरू हो गई, जिससे पूरा इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। इस दौरान जमकर गोलीबारी हुई। इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया, जहां एक व्यक्ति की मौत हो गई। 

अलबत्ता, भाजपा नेता सायंतन बसु ने पार्टी कार्यकर्ताओं के मारे जाने की जानकारी देते हुए कहा कि सभी तृणमूल के गुंडों की गोली से मारे गए हैं। मरने वालों में सुकांत मंडल, प्रदीप मंडल, तपन मंडल के नाम शामिल हैं। इसके इतर कई पार्टी कार्यकर्ता जख्मी हुए हैं। वहीं, तृणमूल नेता ज्योतिप्रिय मल्लिक का कहना है कि भाजपा ने बूथ कमेटी की बैठक के दौरान हमला किया है। इसमें पार्टी के एक कार्यकर्ता की मौत हुई है। घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल है। अंधेरा होने की वजह से पुलिस भी घटना स्थल पर जाने से बच रही थी।