Lok Sabha Election 2019 में हिसार सीट पर भाजपा से हार गए दुष्‍यंत चौटाला ने ईवीएम पर विवाद के बीच बड़ा बयान दिया है। जननायक जनता पार्टी के नेता और पूर्व सांसद दुष्यंत ने कहा कि जो भी नेता ईवीएम मशीन पर सवाल उठा रहे हैं, वे जनमत का अपमान कर रहे हैं। यह जनता का फैसला है और इसे विनम्रता पूर्वक स्‍वीकार करना चाहिए।

कहा- बसपा से गठबंधन परिस्थितियों पर निर्भर करेगा,आप और जेजेपी का गठजोड़ बरकरार रहेगा

उन्‍होंने यहां पत्रकारों से बातचीत के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर भी चुटकी ली। हुड्डा खेमे की दिल्ली में आयोजित बैठक पर भी दुष्यंत ने कहा कि हुड्डा कांग्रेस छोड़ रहे हैं क्या?। बसपा-जेजेपी के गठबंधन के सवाल पर दुष्यंत ने कहा कि यह तो अब आगे की परिस्थितियों पर निर्भर होगा। आम आदमी पार्टी के साथ विधानसभा चुनाव में भी हमारा गठबंधन बरकरार रहेगा।

दुष्यंत ने स्पष्ट रूप से कहा, लोकसभा चुनाव नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने को लेकर लड़ा गया और जनता ने मोदी को ही वोट दिए। देश में मोदी के अलावा कोई अन्य प्रधानमंत्री का चेहरा जनता के सामने नहीं था। पूर्व सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा और पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला एक मंच पर आने के सवाल पर कहा कि पहले दीपेंद्र कांग्रेस छोड़ें तो इसके बाद सवाल का जवाब देंगे।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के पूर्व सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा की सराहना करने के सवाल का जवाब देने से उन्होंने इन्कार कर दिया। उन्होंने कहा कि एसवाईएल नहर को लेकर भाजपा के सभी दस सांसदों को एक साथ प्रधानमंत्री से मांग करने करनी चाहिए। धान की फसल पर सरकार की रोक लगाने पर दुष्यंत ने कहा कि सरकार क्या किसान को फांसी देगी। अगर ऐसा करना है तो दूसरी फसलों के लिए व्यवस्था करे। अन्यथा जेजेपी किसानों के साथ मिलकर लड़ाई लड़ेगी।

बोले - नए निशान चाबी और जोश के साथ विधानसभा चुनाव में उतरेगी जेजेपी

 

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पार्टी चाबी के नए निशान और कार्यकर्ताओं के जोश के साथ विधानसभा चुनाव लड़ेगी। लोकसभा चुनाव अलग मुद्दों पर लड़ा जाता है और विधानसभा चुनाव में स्थानीय मुद्दे रहते हैं। विधानसभा चुनाव में मात्र 125 दिन हैं, इसलिए 100 दिन के तीन कार्यक्रम पार्टी शुरू करने जा रही है।

दुष्यंत कहा कि चाबी अब युवाओं के लिए रोजगार, किसानों के लिए समृद्धि और महिलाओं के लिए सुरक्षा के द्वार खोलेगी।

 

उन्होंने पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से कहा कि अगले 100 दिन मेहनत की दौड़ लगाएं। मेहनत करने वाले कार्यकर्ता को ही विधानसभा में टिकट दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता 10 जुलाई तक जेजेपी की आगमी योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाने का काम करें। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेशवासियों को जेजेपी की 'रोजगार मेरा अधिकार', सत्ता में आते ही किसानों की कर्ज माफी और बुढ़ापा पेंशन जैसी स्कीमों के बारे में अवगत करवाएं।

उन्‍होंने कहा कि विधानसभा चुनावों के मद्देनजर जननायक जनता पार्टी प्रदेश में रोजगार का अधिकार लागू करने, किसानों का कर्जमाफी व बुढ़ापा पेंशन की उम्र घटाने को लेकर प्रदेश में लोगों के बीच जाएगी। उन्होंने कहा कि जननायक जनता पार्टी का गठन पिछले साल 9 दिसंबर को हुआ था और आज छह महीने बाद पार्टी की पहली राष्ट्रीय व प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक है।

 

पांच चुनाव निशान में से चुना चाबी

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि जेजेपी ने हाल ही में लोकसभा चुनाव चप्पल के निशान पर लड़ा था। मतदाताओं ने चप्पल के चुनाव निशान को लेकर आपत्ति दर्ज करवाई थी। इसके बाद चुनाव आयोग ने जेजेपी के समक्ष पांच चुनाव निशान के विकल्प रखे थे। इनमें कंप्यूटर, डिश, माइक, चाबी व चप्पल थी। पार्टी ने कार्यकर्ताओं से राय ली और चाबी का चुनाव निशान लेने पर सहमति जताई।