ग्वालियर  कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ग्वालियर द्वारा २५ मई से ३१ मई तक आयोजित मुद्रा लोन शिविर में आवेदकों की संख्या को दृष्टिगत रखते हुए ९ जून को भी शिविर चलाया गया और इस शिविर में प्राप्त ३५५ आवेदकों में से ७१ आवेदकों के आवेदन जो कि ऋण लेने योग्य पाये गये, उन्हें आज जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी की उपस्थिति में लीड बैंक मैनेजर के माध्यम से बैंकों को भेजने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई।
आज जिला पंचायत कार्यालय में आयोजित मीटिंग में कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के मध्यप्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन, ग्वालियर कैट सचिव संजय कट्ठल, मनोज चौरसिया, सुधीर अग्रवाल, आर.के. जैन के साथ मुद्रा लोन शिविर के संयोजक अजय सिंघल, सदस्य एम.एल. अटल, डॉ. कृष्णा शर्मा सारी प्रक्रिया और फॉर्मों को लेकर पहुंचे। वहां उपस्थित लीड बैंक मैनेजर श्रीवास्तव पी.एन.बी. और एस.बी.आई. से आये बैंक अधिकारियों ने पूरे प्रकरण की जानकारी प्राप्त की और सभी प्रकरणों को टीएफसी के माध्यम से बैंकों को टारगेट के अनुसार वितरित करने की स्वीकृति प्रदान की।
उल्लेखनीय है कि कैट ग्वालियर टीम ने ग्वालियर कोर्डिनेटर दीपक पमनानी, अध्यक्ष रवि गुप्ता, साधना शांडिल्य, सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी आर.बी. शर्मा, दलजीत सिंह, कंसलटेंट आर.के. चौपडा के सहयोग से २० मई से २४ मई तक फार्मों का वितरण किया और २५ से ३१ मई तक प्रत्येक आवेदक का व्यक्तिगत साक्षात्कार लिया। उन सभी प्रक्रियाओं में ७१ फॉर्म स्वीकार किये गये, जिनका ऋण आवेदन २ करोड, ४९ लाख, ४४ हजार रुपये का है और इसमें सामान्य वर्ग, पिछड वर्ग, अल्पसंख्यक, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के कुल ७१ प्रकरण हैं। जिन आवेदकों ने ऋण के लिए आवेदन किया उसमें महिलाएं भी शामिल हैं।
कैट ग्वालियर टीम ने उम्मीद जताई है कि प्राप्त ७१ आवेदनों को यदि बैंक ऋण उपलब्ध कराती है तो कैट के द्वारा स्वरोजगार की दिशा में एक महत्वपूर्ण पहला कदम होगा। इस बैठक में यह भी प्रस्ताव आया है कि आने वाले समय में जिन ऋण योजनाओं में सब्सिडी प्राप्त है उन ऋण योजनाओं को भी सम्मिलित करते हुए कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ऋण शिविर का आयोजन करेगी।