कोलकाता (सोमा) : पश्चिम बंगाल में जगह-जगह हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को मुर्शिदाबाद के डोमकल में के कुचियामोड़ा ग्राम में दो पक्षों में एक बार फिर हिंसा देखने को मिली. डोमकल में देर रात बमबारी और गोलियां चलने के कारण तीन लोगों की मौत हो गई है. शुक्रवार की रात मुर्शिदाबाद में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के दो कार्यकर्ताओं की एक बम विस्फोट में मौत हो गई. टीएमसी कार्यकर्ता खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के घर पर हमलावरों ने बम से हमला किया. इस हमले में दोनों की मौत हो गई. 

घर में सो रहे थे लोग और हो गया धमाका
खैरुद्दीन के बेटे मिलान शेख ने बताया कि हम लोग सो रहे थे कि अचानक घर में विस्फोट हुआ. जिसमें मेरे पिता की मौत हो गई है. उन्होंने आगे बातचीत करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले ही मेरे चाचा को भी मार दिया गया था. इसके पीछे कांग्रेस का हाथ है.
लगातार हो रही है हिंसा
उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव के बाद बंगाल में राजनीतिक हिंसा थमने का नाम ही नहीं ले रही.

यहां अबतक लगभग 10 राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है. अब तक जितने भी मामले सामने आए हैं उनमें बीजेपी और तृणमूल के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प की खबरें ही शामिल हैं. यह पहला मामला है जब तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा की खबरें आई हैं.