मुख्य सचिव श्री सुधि रंजन मोहंती ने कहा है कि भोपाल को  अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों से जोड़ने के लिये राज्य शासन द्वारा एयर इण्डिया के साथ आवश्यक समन्वय किया जायेगा। उन्होंने घरेलू विमानन कम्पनियों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे भोपाल से देश के प्रमुख शहरों जैसे लखनऊ, भुवनेश्वर, कोलकाता, अहमदाबाद, चण्डीगढ़, अमृतसर सहित जबलपुर और ग्वालियर के लिये उड़ानों की संख्या बढ़ाने की कार्य-योजना प्रस्तुत करें। श्री मोहंती ने कहा कि भोपाल विमानतल पर विमानों की नाइट पार्किंग, कार्गो सुविधा की उपलब्धता और उड़ानों की संख्या में वृद्धि होने पर एटीएफ पर लगने वाले वैट को कम करने पर राज्य शासन द्वारा विचार किया जायेगा। मुख्य सचिव आज मंत्रालय में भोपाल से अन्य शहरों के लिये हवाई सेवाओं में विस्तार संबंधी गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कलेक्टर भोपाल को भोपाल विमानतल के लिये अलग से कार्गो सेंटर बनाने के उद्देश्य से उपयुक्त भूमि का चिन्हांकन करने के निर्देश दिये।

मुख्य सचिव ने वायुयानों की नाइट पार्किंग और भोपाल विमानतल के 24 घंटे संचालन के संबंध में 3 माह में आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि भोपाल के पुराने विमानतल से दो माह में कार्गो सेवा आरंभ कर दी जायेगी।

बैठक में अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन, प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्री मनु श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव विमानन श्री अनिरुद्ध मुखर्जी, संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े सहित भारतीय विमानन प्राधिकरण, इण्डिगो, गो-एयर, स्पाइस जेट विमानन कम्पनियों के प्रतिनिधि, चेम्बर ऑफ कॉमर्स और सीआईआई के पदाधिकारी शामिल हुए।