उल्हासनगर। मुंबई से सटे उल्हासनगर में एक २४ साल के युवक की दिन-दहाड़े हुई निर्मम हत्या से सनसनी फ़ैल गई है. उधर मृतक के घरवालों का आरोप है कि पुलिस की लापरवाही के चलते उनके घर का चिराग बुझ गया. मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर के कैंप क्रमांक २ स्थित आजाद नगर परिसर में रहने वाला वशिष्ट यादव (२४) पैदल कैंप १ के आवतमाल चौक, झूलेलाल मंदिर रोड पर दोपहर के वक्त जा रहा था. तीन-चार अज्ञात युवकों ने उसे घेर लिया और उस पर धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्या कर दी. पेशे से सेल्समैन यादव ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. दिन-दहाड़े व्यस्त इलाके में हुई इस जघन्य हत्या से चारों तरफ सनसनी फ़ैल गई. घटनास्थल पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे और पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मध्यवर्ती अस्पताल में पोटमार्टम करवा कर शव उसके परिजन को सौंप दिया. उल्हासनगर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर इलाके में लगी सीसीटीवी फुटेज के जरिये हत्यारों की तलाश में जुट गई है. उधर मृतक के भाई का आरोप है कि उनपर इससे पहले भी जानलेवा हमला हो चुका है. उन्होंने अपने परिवार की सुरक्षा की गुहार पुलिस से कई बार लगाई मगर पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया. बताया जा रहा है कि हत्या की वजह आपसी रंजिश है. दरअसल यादव और निषाद परिवार का काफी दिनों से झगड़ा चला आ रहा है. बहरहाल दिन-दहाड़े हुई हत्या से चारों तरफ सनसनी फैली हुई है.