अहमदाबाद | गुजरात सरकार ने अपने कर्मचारियों को 3 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने का ऐलान किया है| 1 जनवरी 2019 से महंगाई भत्ता मिलेगा और इसके लाभ करीब 9.61 लाख से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारियों को मिलेगा|
उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने सरकारी कर्मचारियों के हित में तक कई महत्वपूर्ण फैसले किए हैं| राज्य सरकार के 206447, पंचायत विभाग के 225083, अन्य कर्मचारी 79599 और 450509 पेन्शनरों समेत कुल 961638 अधिकारी और कर्मचारियों व पेन्शनरों को राज्य सरकार सातवें वेतन आयोग के लाभ दिए हैं और उसके मुताबिक वेतन और पेंशन का भुगतान किया जा रहा है| उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के, पंचायत और अन्य ग्रान्टेबल संस्थाओं के अधिकारी और कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग का लाभ दिया जा रहा है| भारत सरकार द्वारा 1 जुलाई 2018 से 2 प्रतिशत महंगाई भत्ता मंजूर किया है| राज्य सरकार के अधिकारी और कर्मचारियों को उनके वेतन के अलावा वर्तमान में 9 प्रतिशत महंगाई भत्ता दिया जा रहा है| भारत सरकार ने भी 1 जनवरी 2019 से अतिरिक्त 3 प्रतिशत महंगाई भत्ता केन्द्र सरकार के कर्मचारियों के लिए घोषित किया है| गुजरात सरकार ने भी अपने कर्मचारी और अधिकारियों को केन्द्र सरकार के तर्ज पर तीन प्रतिशत महंगाई भत्ता देने का फैसला किया है| जुलाई 2019 के वेतन के साथ अतिरिक्त 3 प्रतिशत महंगाई भत्ते का नकद में भुगतान किया जाएगा| राज्य सरकार के इस फैसले से सरकारी कोष पर वार्षिक 1071 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा|