रायपुर। नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने आज दो दिन तक चली मैराथन बैठक में नगरीय निकायों की समीक्षा की। उन्होंने नगरीय क्षेत्र में राजस्व वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों में बरसात के मौसम को ध्यान में रखते हुए निस्तारी तलाबों और नालों की साफ-सफाई के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि शहरी क्षेत्रों में मच्छरों से बचाव के लिए फागिंग मशीन से धुएं करने और तालाबों में पानी जमा होने वाले स्थान में एण्टी लार्वा दवा का छिड़काव करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। बैठक में उन्होंने डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन की समीक्षा की और अवैध निर्माण पर भी सख्ती से कार्रवाई करने कहा।
 नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने समीक्षा बैठक में कहा कि मोर जमीन मोर घर योजना में हितग्राहियों पैसे लेने की शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए इसकी जांच कराने और सही पाए जाने पर उनके उपर सीधे एफ.आई.आर. तथा बर्खास्तगी की कार्यवाही करने कहा। उन्होंने समीक्षा के दौरान कार्य में लापरवाही और अनियमितता पाए जाने पर 6 मुख्य नगरपालिका अधिकारियों और दो उप अभियंता को शो-काज नोटिस, दो उप अभियंता को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण और संवर्धन को बढ़ावा देने के लिए नगरीय क्षेत्र में पुराने और नए सभी भवनों में अनिवार्य रूप से रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाए। शासकीय भवनों में भी रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाना सुनिश्चित किया जाए। इसी तरह निकायों में व्यवसायिक एवं बहुमंजिला इमारतों में अग्नि शमन सुरक्षा की नियमित मानिटरिंग की जाए। उन्होंने विशेष तौर पर व्यावसायिक भवनोंं, अस्पतालों और कोंचिग संस्थानों में अग्नि सुरक्षा व्यवस्था की जांच के निर्देश दिए।
डॉ. डहरिया ने बैठक में प्रधानमंत्री अवास योजना में लापारवाही पर भानुप्रतापपुर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी और उप अभियंता, खरौद के उप अभियंता,  बिल्हा, सरगांव और घरघोड़ा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी तथा नगर पंचायत राहोद के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को  को निर्माण कार्य में लापारवाही, धरमंजयगढ़ के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को कम कर वसूली के लिए कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार नगर पांचायत शिवरीनाराण में अवैध नीलामी की जांच संयुक्त संचालक से कराया जाए। डभरा में पार्षद निधि से 53 लाख रूपए की कुर्सी खरीदी की जांच कराने तथा मुख्य नगर पालिका अधिकारी को कार्य निष्पादन में लापरवाही के कारण उन्हें तत्काल वहां से हटाए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं।
उल्लेखनीय है कि पहले दिन की समीक्षा बैठक में डॉ. डहरिया ने दुर्ग नगर निगम के उप अभियंता को प्रधानमंत्री आवास योजना में त्रुटिपूर्ण प्रस्ताव तैयार करने तथा केन्द्र सरकार से योजना स्वीकृत कराने के लिए तत्काल प्रभाव से लंबित करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार नगर पालिका परिषद तिल्दा-नेवरा के उप अभियंता श्री आर.के. दास के विगत तीन माह से अनुपस्थित रहने के कारण निलंबित करने के निर्देश दिए गए। संयुक्त संचालक श्री नीलांबर नायक और सीएमओ बागबाहरा से भी अमरनाथ दुबे को चार माह का वेतन भुगतान न करने के कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं।  
नगरीय प्रशासन मंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में भी गौठानों का निर्माण किया जाएगा, जिससे पशुओं के कारण होने वाली दुर्घटनाओं की रोकथाम हो सके तथा शहरों के आस-पास पशुपालकों को भी सहायता मिल सके। उन्होंने राज्य के सभी नगरीय निकायों को 10 जुलाई तक गौठान निर्माण की कार्ययोजना बनाने को भी कहा। उन्होंने कहा कि गौठान में पशुओं के लिए डे-केयर की सुविधा होगी। नगरीय निकाय द्वारा पशुओं के लिए छाया, पानी, बिजली और चिकित्सा की व्यवस्था की जाएगी।
डॉ. डहरिया ने बताया कि नगरीय निकायों के कर्मचारियों और शिक्षकों को वेतन भुगतान के लिए आबंटन जारी कर दिया गया है, उनके खातों पर भुगतान की कार्यवाही शीघ्र करें। बैठक में नगरीय प्रशासन विभाग की विशेष सचिव श्रीमती अलरमेलमंगई डी., अतिरिक्त संचालक सुडा सौमिल्य रंजन चौबे सहित नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।