देश में मछली पालन में रोजगार की असीम संभावनाएं हैं। फूड एंड एग्रीकल्‍चर ऑर्गनाइजेशन की रिपोर्ट का मानना है कि साल 2030 तक भारत में मछली की खपत चार गुणा बढ़ जाएगी। यही वजह है कि देश में मछली पालन का कारोबार भी तेजी से बढ़ रहा है। सरकार भी मछली पालन को बड़ी प्रमुखता दे रही है। केन्द्र सरकार ने राज्‍य सरकारों के साथ मिलकर एक स्‍कीम चला रही है, जिसके तहत मछली पालन का व्यवसाय करने वालों को सरकार लगभग 75 फीसदी वित्तीय समर्थन करती है। दरअसल, केन्द्र सरकार ने फार्मर्स की इनकम दोगुनी करने की घोषणा की है। यह स्‍कीम उसी घोषणा का हिस्‍सा है। सरकार का दावा है कि काफी कम जगह और कम पानी में मछली पालन की तकनीक अपनाने पर अच्छी खासी आय हो सकती है। 
क्‍या है यह तकनीक 
इस तकनीक को 'रिसर्कुलर एक्वाकल्चर सिस्टम' (आरएएस) कहा जाता है। जिसमें पानी का बहाव बना रहता है और पानी के आने-जाने की व्यवस्था की जाती है। इसमें कम जगह और कम पानी लगता है। जैसे कि अगर साधारण मछली पालन किया जाता है तो एक एकड़ तालाब में सिर्फ 15 से 20 हजार ही पंगेशियस मछली पाली जा सकती हैं, जबकि एक एकड़ में करीब 60 लाख लीटर पानी होता है। अगर तालाब में 20 हजार मछली डाली हैं तो एक मछली को 300 लीटर पानी में रखा जाता है। जबकि इस सिस्टम के जरिए एक हजार लीटर पानी में 110-120 मछली डालते है। इस हिसाब से एक मछली को केवल नौ लीटर पानी में रखा जाता है। इस सिस्‍टम में एक हेक्‍टेयर में 8 से 10 टन मछली पाली जा सकती है। 
पांच लाख की लागत 
अगर आप आरएएस तकनीक के अनुसार मछली पालन करना चाहते हैं तो आपको सिर्फ 5 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। इस राशि से आप लगभग 20 हजार किलोग्राम वजन की मछलियां पाल सकते हैं। नेशनल फिशरी डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा तैयार की गई प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के मुताबिक, आप 20 हजार किग्रा कैपेसिटी वाले तालाब बनाते हैं तो आपके प्रोजेक्‍ट की कीमत 20 लाख रुपए आएगी। इसमें कैपिटल कीमत 9 लाख 64 हजार रुपए और ऑपरेशनल कीमत 10 लाख 36 हजार रुपए होगी। 
सरकार कितना करेगी सहयोग
20 लाख रुपए के प्रोजेक्‍ट में से आपको केवल 5 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। बाकी 7 लाख 50 हजार रुपए केंद्र सरकार और 3 लाख 75 हजार रुपए राज्‍य सरकार द्वारा सब्सिडी के तौर पर दिया जाएगा। इसके अलावा सरकार 3 लाख 75 हजार रुपए का बैंक लोन भी दिलाएगी। 
संभावित आय 
आप 20 हजार किलोग्राम मछली पालते हैं तो इन मछली से आपकी कुल आय लगभग 15 लाख रुपए होगी और इसमें नेट इनकम 4 लाख 64 हजार रुपए हो सकती है।