बाराबंकी । बाराबंकी एक तरफ जहां प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ महिलाओं की सुरक्शा को लेकर कड़े कानून बनाने का दावा कर रहे हैं वहीं पर राजनीतिक संरक्शण के चलते दबंग महिलाओं पर खुलेआम अत्याचार कर रहे हैं तथा घर में घुसकर नाबालिक लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करते हैं विरोध करने पर जान से मारने एवं जिंदा जलाने की धमकी दे रहे हैं ! घटना के 3 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस प्रशासन के कान में जूं तक नहीं रहेगी और कोई भी अधिकारी मौके पर पीड़ितों का हाल जानने नहीं पहुंचा ! दबंग पीड़ित परिवार को धमकी दे रहे हैं कि अपना घर व जमीन हमारे नाम लिखकर गांव छोड़कर कहीं चले जाओ नहीं तो तुम्हारी लड़कियों का वह हसर करेंगे कि कहीं मुंह दिखाने के लायक नहीं रहोगे । मुक्त हो गई परिवार कल दिनांक 03/07 2019 को राज महिला आयोग की सदस्य से मिलकर अपनी आपबीती बताई जिस पर सीओ सदर बाराबंकी ने थाना जैदपुर को मुकदमा लिखने तक का आदेश जारी किया पर खबर लिखे जाने तक मुकदमा पंजीकृत नहीं हुआ जिसके बाद भुक्तभोगी महिला ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर दबंगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की है दिए गए प्रार्थना पत्र में जनम दुलारी पत्नी स्व0 राम उदित नि0 ग्राम याकूतगंज, थाना जैदपुर, जिला बाराबंकी ने बताया है की गांव के ही उत्तम व गिरीश पुत्रगण राम प्रताप प्रार्थिनी के दरवाजे ग्राम समाज की जमीन पर एक गूलर का पेड़ लगा हुआ है। जिसको उपरोक्त विपक्शीजन काटने के लिए तरह-तरह के हथकण्डे अपना कर कूड़ा करकट व तेजाब आदि फेंकते है ताकि पेड़ सूख जाए और चोरी-छिपे काट ले। और जमीन खाली हो जाएं । उक्त पेड़ की देखभाल व सेवा करके उसकी रक्शा करती जिससे विपक्शीजन उससे रंजिश मानते हैं। इसी बिना पर दिनांक 01.07.2019 को समय लगभग 3 बजे दिन में प्रार्थिनी के सहेन में कूड़ा आदि डालने से मना किया इस पर उक्त लोग प्रार्थिनी को गंदी-गंदी गालियां देने लगे प्रार्थिनी ने जब गाली देने से मना किया तो गांव के शिवकुमार पुत्र अज्ञात ने विपक्शीजन को उकसाते हुए कहा कि आज इन लोगों के साथ जो भी करना हो कर लो थाना पुलिस से हम निपट लेंगे तभी उक्त विपक्शीजन जान से मारने की नियत से फावड़ा व कुदाल लेकर दौड़ा लिया प्रार्थिनी डरकर घर के अन्दर भागी तो विपक्शीजन पीछे से घर में घुसकर आये और प्रार्थिनी की नाबालिग पुत्री के साथ अश्लील हरकते करते हुए उसके नाजुक अंगो से छेड़छाड़ करते हुए जमीन पर पटककर चढ़ गया जिससे उसके शरीर पर काफी घाव हो गये। प्रार्थिनी व प्रार्थिनी के शोर पर प्रार्थिनी की दूसरी लड़की सुनीता बचाने आई तो उसको भी लात घूंसों से मारा। शोर पर गांव के तमाम लोग आ गये जिन्होंने प्रार्थिनी व प्रार्थिनी की लड़कियों की जान बचाई। विपक्शीजन गालियां देते हुए कहा कि तुम भुजवाइन, भिखमंगिन अगर कही शिकायत किया तो अगली बार तुम्हारी लड़कियों के ऊपर तेजाब डालकर चेहरों को कूरूप बना देंगे। विपक्शीजन जाते-जाते प्रार्थिनी का तख्त व जीविकोपार्जन हेतु लगे भार को तोड़ दिया है तथा गृहस्थी का सामान तहस नहस करके कुए में फंेक दिया। प्रार्थिनी ने इस सम्बंध में थाना हाजा में शिकायती प्रार्थना पत्र दिया किन्तु विपक्शीजन के प्रभाव के कारण स्थानीय पुलिस ने प्रार्थिनी रिपोर्ट नहीं दर्ज की और उल्टे ही प्रार्थिनी को डाट फटकार के थाने से भगा दिया और कहा कि पेड़ काट लेने दो क्योंकि वह लोग मेरे घनिश्ठ मित्र हैं। पीड़ित महिला अपनी दोनों पुत्रियों को लेकर थाने गई जहां पर कोई कार्रवाई नहीं की गई जिसके बाद महिला ने पुलिस अधीक्शक से मिलकर न्याय की गुहार लगाई फिर भी पुलिस कुंभ कारी नींद से नहीं जागी। दूसरे दिन महिला ने महिला आयोग के सदस्य मिलकर आपबीती बताई जिसके बाद सीओ सदर थाना ने जैदपुर को मुकदमा लिखने का आदेश दिया पर खबर लिखे जाने तक थाना जैदपुर में मुकदमा पंजीकृत नहीं हुआ इससे एक बात साफ है कि पुलिस उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ताक पर रखकर सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है