राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल ने कहा है कि टी.बी. उन्मूलन  के लिये समग्र प्रयास की जरूरत है। उन्होंने इसके लिये जिले में जन-भागीदारी के साथ एकजुट होकर कार्य करने की बात कही। राज्यपाल आज टीकमगढ़ में स्वयंसेवी संस्थाओं की बैठक में कार्यक्रमों की समीक्षा कर रही थीं।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि स्वयंसेवी संस्था अपने कार्यों के साथ-साथ टी.बी. के मरीजों को भी गोद लेकर उन्हें दवाएँ और पौष्टिक आहार लेने के लिये प्रेरित करें। राज्यपाल ने रेडक्रॉस सोसायटी के कार्यों की समीक्षा में सदस्यों की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया। कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन ने जिले में रेडक्रॉस की गतिविधियों की जानकारी दी।

राज्यपाल ने एक अन्य बैठक में विकास कार्यक्रमों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों को संस्कार और स्वच्छता की जानकारी नियमित रूप से दी जाये। श्रीमती पटेल ने किसान सम्मान-निधि की राशि किसानों को समय पर सुलभ होना सुनिश्चित करने को कहा। बैठक में प्रधानमंत्री जन-धन, प्रधानमंत्री आवास, प्रधानमंत्री फसल बीमा, जय किसान फसल ऋण माफी, सौभाग्य, आयुष्मान भारत योजना सहित अन्य कार्यक्रमों की समीक्षा की गयी। राज्यपाल ने टीकमगढ़ में युवाओं को मार्गदर्शन देकर आत्म-निर्भर बनाने के लिये जिला प्रशासन द्वारा शुरू 'आरोहण' अभियान की प्रशंसा की।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने ग्राम बड़ागाँव घसान में मध्यप्रदेश-डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा गठित स्व-सहायता समूह के उत्पादों को देखा और शासकीय अस्पताल का निरीक्षण कर मरीजों को फल वितरित किये। श्रीमती पटेल ने बड़ागाँव थाने का निरीक्षण किया और बच्चों से संवाद में बताया कि पुलिस उनकी मित्र है। उन्होंने जिले में स्टूडेंट पुलिस कैडेट योजना के विस्तार की बात कही। राज्यपाल ने थाना परिसर में पौध-रोपण कर आँगनवाड़ी केन्द्र और माध्यमिक शाला का भी निरीक्षण किया।