मुंबई । बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपनी मौजूदा एमसीएलआर में 10 आधार अंकों तक की कटौती की है। बैंक ने एमसीएलआर (निधि आधारित ऋण दर की सीमांत लागत) एक दिन के लिए 8.35 फीसदी से बढ़ा कर 8.20 फीसदी, एक महीने के लिए 8.35 फीसदी से 8.30 फीसदी, तीन महीनों के लिए 8.45 फीसदी से 8.40 फीसदी, छह महीनों के लिए 8.65 फीसदी से 8.55 फीसदी और एक साल के लिए 8.70 फीसदी से बढ़ाकर 8.60 फीसदी कर दी। बैंक की बढ़ी हुई एमसीएलआर 07 जुलाई से प्रभाव में आएगी। गौरतलब है ‎कि एमसीएलआर वह दर होती है, जिससे नीचे बैंक कुछ अपवाद स्थितियों को छोड़ कर ऋण नहीं दे सकता। एमसीएलआर की दर घटने से आवास, ऑटो, व्यक्तिगत और बाकी सभी प्रकार के ऋण सस्ते हो जाएंगे, क्योंकि ये सभी एमसीएलआर पर ही आधारित होते हैं।