साओ पाउलो । अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेस्सी इस बार रैफरी पर भड़के हैं। मेस्सी ने कहा है कि भ्रष्टाचार और रैफरी लोगों को फुटबॉल का आनंद नहीं लेने दे रहे। मेस्सी को कोपा अमेरिका के तीसरे स्थान के मुकाबले में चिली पर 2-1 की जीत के दौरान लाल कार्ड दिखाकर बाहर कर दिया गया था। मैच के दौरान पहले हाफ के 37वें मिनट में 5 बार के बेलोन डिओर विजेता मेस्सी और चिली के कप्तान गैरी मेडेल को गोललाइन के समीप उलझने के लिए लाल कार्ड दिखाकर बाहर कर दिया गया। वहीं इस घटना के टेलीविजन रीप्ले में हालांकि दिखा कि मेस्सी की अधिक गलती नहीं थी। इससे भड़के मेस्सी ने कहा कि भ्रष्टाचार और रैफरी लोगों को फुटबॉल का आनंद नहीं लेने दे रहे। यहां तक कि खेल को कुछ हद तक बर्बाद भी कर रहे हैं। इस घटना के लिए सिर्फ चिली के कप्तान को पीला कार्ड दिखाया जाना था लेकिन पैराग्वे के रैफरी मारियो डियाज डि वेवार ने दोनों कप्तान को लाल कार्ड दिखा दिया। मेस्सी ने कहा, ‘‘किसी को भी लाल कार्ड नहीं दिखाया जाना चाहिए था। रैफरी वीएआर की सहायता ले सकता था। ब्राजील के खिलाफ सेमीफाइनल में अर्जेन्टीना की 0-2 से हार के दौरान रैफरी से मेस्सी पहले ही नाराज थे और उन्होंने दावा किया था कि दक्षिण अमेरिका की फुटबाल संचालन संस्था कोनमेबोल मेजबान टीम का पक्ष ले रही है।