नई दिल्ली: लखनऊ से दिल्ली जा रही ऱोडवेज की बस आगरा में एक्सप्रेस वे पर झरना नाले की खाई में गिर गई, इस हादसे में 29 यात्रियों की मौत हो गई है और 18 लोग घायल हो गए हैं. बस में तकरीबन 50 लोग सवार थे. घायल यात्रियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यूपी सरकार ने मृतकों के परिवार को पांच-पांच लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है. साथ ही  उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक बस का नंबर UP33 AT 5877 है, बस इटावा से दिल्ली जा रही थी.


आगरा हादसे पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, ''उत्तर प्रदेश के आगरा में हुए बस हादसे से आहत हूं. उन परिवारों के प्रति संवेदना, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है. मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग तेजी से ठीक हों. राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं.


घटना पर दुख प्रकट करते हुए राजनाथ ने ट्वीट किया, "यमुना एक्सप्रेसवे पर हुई बस दुर्घटना में कई लोगों की मृत्यु के दुखद समाचार से मैं व्यथित हूं. दुर्घटना के संबंध में आदित्यनाथ से मैंने बात की है. उन्होंने प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा एवं (परिवहन) मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को दुर्घटना स्थल पर भेजा है."


उन्होंने आगे कहा, "भाजपा के प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह भी घटनास्थल पर गए हैं. इस हृदय विदारक घटना में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति अपनी भावनायें एवं संवेदनाएं प्रेषित करता हूं और जो लोग घायल हुए हैं उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं."


अतिरिक्त मुख्य सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने कहा, ‘‘ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवहन आयुक्त, मंडल आयुक्त और आगरा के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) वाली एक समिति को 24 घंटे के भीतर घटना की जांच करने का आदेश दिया है.’’
यह समिति दुर्घटना के कारणों को लेकर रिपोर्ट देगी और भविष्य में इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए उठाए जाने वाले कदमों की भी सिफारिश करेगी.


घायलों को लेकर भी बड़ी जानकारी सामने आई है. जानकारी के मुताबिक 9 लोग आईसीयू में भर्ती हैं. इनमें दो की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है. सात अन्य लोग हैं जिनके बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है. सभी घायलों का इलाज कृष्णा हॉस्पिटल में चल रहा है.


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आगरा में यमुना एक्सप्रेसवे पर सड़क दुर्घटना का संज्ञान लेते हुए जिला मजिस्ट्रेट से बात की और घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं.
उत्तर प्रदेश रोडवेज ने भी पांच लाख रुपये मुआवजे का एलान किया है. दुर्घटनाग्रस्त बस अवध डिपो की बताई जा रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर दुख जताया है. मुख्यमंत्री योगी ने प्रशासन को घटना स्थल पर पहुंच कर घायलों की मदद करने का निर्देश भी दिया है.


आगरा के डीएम एन जी रवि ने घटना की जानकारी देते हुए बताया, ''बस स्पीड में होगी और ड्राइवर के नींद में होने की वजह से ये हादसा हुआ है. हादसा सुबह करीब साढ़े चार बजे हुआ. जिसमें 29 लोगों की मौत हो गई है. मरने वालों में डेढ़ साल की बच्ची, 15-16 की एक लड़की समेत 27 पुरुष शामिल हैं.''


डीएम ने बताया कि 18 लोगों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, हम कोशिश कर रहे हैं कि बस को जल्द से जल्द हटाया जाए, जिससे पता चल सके कि नीचे और शव तो नहीं दबे हैं.


जिलाधिकारी एन जी रवि का कहना है कि ये हादसा सुबह करीब साढ़े चार बजे हुआ. बस स्पीड में होगी और ड्राइवर के नींद में होने की वजह से ये हादसा हुआ होगा. मरने वालों में डेढ़ साल की बच्ची, 15-16 साल की एक लड़की समेत 27 पुरुष शामिल हैं. जबकि 18 लोगों को इलाज चल रहा है.


हेल्पलाइन नंबर-
लखनऊ मुख्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है जहां से लोगों को जानकारी दी जा रही है.


9415049606, 188102877, 9412781886 नम्बर पर जानकारी ले सकते हैं.


यमुना एक्सप्रेस वे पर पिछले 6 महीने में सड़क हादसों में 94 मौतें


ट्रैफिक निदेशालय के आंकड़े दिल दहला देने वाले हैं. आंकड़ों के मुताबिक यमुना एक्सप्रेस वे पर पिछले 6 महीने में सड़क हादसों में 94 मौतें हुई हैं. यमुना एक्सप्रेस वे पर जनवरी से जून 2019 तक 95 दुर्घटनाएं हुईं जिनमें 94 लोगों की मौत हुई और 120 लोग घायल हुए.


मथुरा में सबसे ज्यादा 54 सड़क हादसे हुए जिनमें 55 मौत और 43 घायल हुए.


नोएडा में 25 हादसों में 27 मौतें हुईं
आगरा में 9 हादसों में 6 मौतें हुईं
अलीगढ़ में 7 हादसों में 6 जानें गईं


इससे पहले हो चुके हैं ये हादसे


 3 मार्च 2019 


बता दें इससे पहले 3 मार्च 2019  को  यमुना एक्सप्रेस-वे पर भीषण हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई थी और 30 लोग घायल हो गए थे. तेज़ रफ़्तार से आ रही यात्रियों से भरी बस  खड़े ट्रक में जा घुसी थी जिसमें मौके पर ही आठ लोगों की मौत हो गई थी.


3 जून 2019


उसके बाद 3 जून को नोएडा से भिण्ड जा रही एक डबल डेकर निजी बस पलट गई जिससे उसमें बैठे चार लोगों की मौके पर ही मृत्यु हो गई और दो दर्जन से अधिक घायल हो गए थे.


16 जून 2019


उसके बाद 16 जून को भी यमुना एक्सप्रेस-वे पर भीषण हादसा हुआ था. नोएडा से आगरा जा रहे एक ही परिवार के लोग हादसे का शिकार हो गए थे. उस हादसे में  तीन महिलाओं और एक बच्ची सहित पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि छठे सदस्य ने इलाज के लिए ले जाते समय दम तोड़ दिया था.


जौनपुर में चार की मौत
जौनपुर रायबरेली राज मार्ग पर भीषण सड़क हादसे में 4 लोगों के मौत हो गई. अनियंत्रित कार सड़क किनारे पुलिया से टकराई. कार सवार सभी चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. मृतकों में एक महिला तीन पुरुष शामिल हैं. मृतकों की अभी तक पहचान नहीं हो सकी है.