वाशिंगटन । 20 जुलाई 1969 को चांद पर पहली बार इंसान पहुंचा था। पूरी दुनिया इस घटना के पचासवें साल को सेलिब्रेट कर रही है। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अपोलो-11 से नील आर्मस्ट्रॉन्ग, माइकल कॉलिन्स और एडविन एल्ड्रिन ने पहली बार चांद पर कदम रखा था। इसके पचास साल बाद नासा ने एक और रहस्य का खुलासा जिसमें बताया जा रहा है कि चांद पर एक प्राचीन एलियंस शहर था। दरअसल, नासा ने कुछ तस्वीरें जारी की हैं जिसमें चांद के उस तरफ की भी तस्वीरें हैं जहां काफी अंधेरा है। नासा द्वारा जारी की गई चांद के अंधेरे पक्ष की तस्वीरों ने इस विश्वास को हवा दे दी है कि पृथ्वी का निकटतम पड़ोसी चांद एक अद्भुत रहस्य छिपा रहा है और वो रहस्य है कि चांद पर एलियन का एक प्राचीन शहर होना। नासा द्वारा जारी की गईं कुछ तस्वीरों में चौकोर आकार की चट्टान को पुरानी इमारतें बताया गया है। उनके अनुसार इन संरचनाओं को लाखों साल पहले छोड़ दिया गया था, इसलिए अब यह माना जाता है कि एलियंस अब चांद पर नहीं रहते हैं। नासा ने चांद पर मानव अभियान की 50वीं सालगिरह पर करीब 400 फोटो जारी किए हैं, जिनमें से कुछ चौंकाने वाले हैं। इन फोटोज को द नासा आर्काइव: 60 इयर्स इन स्पेस में भी शामिल किया गया है। बता दें कि अपोलो 11 मिशन ने चांद के लिए 16 जुलाई, 1969 को फ्लोरिडा के कैनेडी स्पेस सेंटर से उड़ान भरी थी और उसे चांद तक पहुंचने में आठ दिन लगे थे।