टोक्यो । जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के नेतृत्व वाले गठबंधन ने संसद के उच्च सदन का चुनाव जीत लिया है। हालांकि वह दो-तिहाई बहुमत पाने से चूक गए है। इसके चलते संवैधानिक सुधार की उनकी योजना को झटका लगा है। दरअसल, आबे की लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी और सहयोगी कोमीटो पार्टी को दो-तिहाई बहुमत हासिल करने के लिए 85 सीटें जीतनी थीं लेकिन उन्हें 69 सीटें ही मिलीं। बता दें कि उच्च सदन में कुल 245 सीटें हैं। इनमें से आधी सीटों के लिए हर तीन साल में चुनाव होता है। रविवार को 124 सीटों के लिए मतदान हुआ था, जिसके लिए 370 प्रत्याशी मैदान में थे। सत्तारूढ़ गठबंधन के पास उच्च सदन में पहले से 70 सीटें थीं। सदन में बहुमत होने के बावजूद यह गठबंधन संवैधानिक सुधारों की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकता। दरअसल, संविधान में किसी भी संशोधन के लिए दो-तिहाई बहुमत की जरूरत होती है। इस जीत के साथ आबे की पार्टी 2012 से लगातार पांच संसदीय चुनाव जीतने वाली पहली पार्टी बन गई।