जगदलपुर । पर्यावरण संरक्षण और इंद्रावती बचाने के लिए काम कर रही इंद्रावती जनजागरण अभियान के सदस्यों ने गुरुवार की शाम शहर के मेन रोड में व्यापारी भाइयों के प्रतिष्ठानों में सजावटी पौधे वितरित किए ताकि प्रतिष्ठानों के सामने हरा भरा सा माहौल नजर आता रहे।इंद्रावती बचाओ जन जागरण अभियान के सदस्य लगातार जिले भर में कई स्थानों पर पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधे लगाने का कार्य कर रही हैं,स्कूल,कॉलेजों ग्राम पंचायतों और सार्वजनिक क्षेत्रों में अब तक सैकड़ों की संख्या में पौधे रोपित किए गए हैं.इसी तारतम्य में शहर के मुख्य मार्गों में सजावटी पौधों का वितरण किया जा रहा है। पहले दिन व्यापारी भाइयों को 100 पौधे वितरित किए गए।यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा।पौधे वितरण के इस योजना को शहर के व्यापारियों ने हाथों-हाथ लिया है सभी व्यापारी भाइयों ने अपने प्रतिष्ठान के सामने 2- 2 गमले रखे हैं.ताकि पर्यावरण को संतुलित करने में यह पौधे लाभकारी साबित हो सके। इसके साथ ही प्रतिष्ठानों की खूबसूरती इन पौधों के चलते निखरने लगी है.बारिश के बावजूद भी इंद्रावती बचाओ जनजागरण अभियान के सदस्यों ने प्रत्येक दुकानों में संपर्क कर पौधे वितरित किए.बस्तर की प्राणदायिनी इंद्रावती नदी को बचाने के लिए शुरू हुए इस अभियान में दिन-प्रतिदिन लोगों का जुड़ना जारी है सभी सदस्यों के सलाह मशविरा के बाद ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने का काम निरंतर जारी है।ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायतों से संपर्क कर पीपल,बरगद व अन्य छाया व फलदार वृक्ष लगाए जा रहे हैं। पौधारोपण के इस वृहद कार्य में अलग-अलग टीम का गठन किया गया है जो लगातार स्कूलों सहित ग्राम पंचायतों से संपर्क कर पौधे लगाने का कार्य कर रही है। अभियान की अगले चरण में बचे अन्य शासकीय स्कूल व निजी संस्थानों में पौधारोपण किया जाना है।वर्षा ऋतु के अंत तक अधिक से अधिक पौधे लगाने का संकल्प अभियान के सदस्यों ने लिया है। बस्तर को पूर्व की तरह  हरा-भरा करने के उद्देश्य को लेकर इंद्रावती बचाव जनजागरण अभियान अपने कर्तव्यों का पालन कर रही है। वर्षा ऋतु में अभियान के सदस्यों ने 5000 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है।