‍श्योपुर जिले में कराहल विकासखंड में सुदूर वनांचल के  आदिवासी ग्राम पनार, चन्दूपुरा, सिरोंनी और बागचा के सहरानो और सहरिया परिवारों के घर रोज शाम 6 बजे से दूसरे दिन सुबह 6 बजे तक सोलर सिस्टम से बिजली की रोशनी से जगमगाते हैं। इन परिवारों के घर पर सोलर बैट्री को रिचार्ज करने के लिये सोलर प्लेट लगाई हैं, जो सूर्य की किरणों से बैट्री को चार्ज करती हैं। इस कारण आदिवासी समुदाय सोलर लाईट को सूरज की लाईट कहते हैं।

 सुदूर वन क्षेत्र के इन गाँव के सहरिया और सहरानो परिवारों के घरों पर म.प्र. ऊर्जा विकास निगम के सहयोग से सोलर होम लाईट सिस्टम लगाया गया है। इस व्यवस्था में एपीएल परिवारों से मात्र 200 और बीपीएल परिवारों से मात्र 100 रुपये अंशदान जमा कराया गया है।

अब इन गाँव के बच्चे रात में पढ़ने लगे हैं। आसपास के ग्रामवासी भी अपने घरों में सोलर होम लाईट सिस्टम लगाने के लिये प्रयास कर रहे हैं।