मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल आज राजधानी रायपुर में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय  राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर आयोजित सदभावना दौड़ में शामिल हुए। सदभावना दौड़ का आयोजन गांधी चौक से राजीव गांधी चौक तक किया गया।
सदभावना दौड़ में बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे, जनप्रतिनिधि और प्रबुद्ध नागरिक शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने गांधी चौक से झंडी दिखा कर दौड़ का शुभारम्भ किया। वे स्वयं भी बच्चों के साथ दौड़े।
सदभावना दौड़ के राजीव गांधी चौक पर पहुँचने पर मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी। उन्होंने स्कूली बच्चों सहित उपस्थित सभी लोगों को शांति, सदभावना, देश की एकता और अखंडता की शपथ दिलायी। कार्यक्रम का आयोजन नगर निगम रायपुर द्वारा किया गया।
    इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, राज्यसभा सांसद श्री पी.एल. पुनिया और श्रीमती छाया वर्मा, विधायक  सत्यनारायण शर्मा,  मोहन मरकाम,  कुलदीप जुनेजा,  विकास उपाध्याय, नगर निगम रायपुर के महापौर  प्रमोद दुबे, पूर्व महापौर श्रीमती किरणमयी नायक भी उपस्थित थीं।
मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय  राजीव गांधी को नमन करते हुए उनके योगदान को याद किया। उन्होंने कहा कि पंचायती राज, संचार क्रांति, 18 वर्ष के युवाओं को मताधिकार और पर्यावरण अधिनियम  राजीव गांधी की देन हैं । उन्होंने देश की एकता और अखंडता के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। उनकी जयंती पर विशेष ग्रामसभाओं का आयोजन किया जा रहा है। नवोदय विद्यालय भी उनकी महत्वपूर्ण देन है। आज नवोदय विद्यालय में वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। धमतरी जिले के नगरी विकासखंड के ग्राम दुगली में जहां  राजीव गांधी लगभग 34 वर्ष पूर्व आए थे, वहां उनकी प्रतिमा का आज अनावरण किया जाएगा।