कान्हा राष्ट्रीय उद्यान में पर्यटकों को भरपूर मनोरंजन के साथ यहाँ के वन और वन्य प्राणियों के बारे में बेहतर जानकारी देने के लिये प्रबंधन ने 150 प्रकृति गाईड को प्रशिक्षित किया है। ताज सफारी में प्रकृतिविद्, के रूप में कार्य कर चुकी सुश्री रत्ना सिंह, सिंघीनावा फाउंडेशन के श्री प्रणद पाटिल, डब्ल्यू-डब्ल्यू एफ के श्री अनिरूद्ध धामोरीकर ने गाईड्स को प्रशिक्षण दिया।

गाईड्स को विशेषज्ञों द्वारा कान्हा राष्ट्रीय उद्यान की जैव विविधता, वनस्पति और विभिन्न प्रकार की घास की पहचान एवं उपयोगिता, कीट-पतंग, सरीसृप, पक्षी एवं स्तनपायी से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। क्षेत्र संचालक श्री एल. कृष्णमूर्ति ने गाईड्स को कान्हा टाइगर रिजर्व में प्रबंधन, सुरक्षा तकनीक और पर्यटकों के प्रति उत्तम व्यवहार का प्रशिक्षण दिया। श्री कृष्णमूर्ति ने कहा कि गाईड्स का दायित्व है कि वे कान्हा राष्ट्रीय उद्यान से संबंधित हर जानकारी से अद्यतन रहें। जब पर्यटक वापस जायें, तो चिरस्थायी खुशनुमा यादों के साथ जायें। क्षेत्र संचालक ने गाईड्स को प्रमाण-पत्र वितरित किये।