भोपाल। राजधानी भोपाल के शाहपुरा थाना इलाके मे बुधवार सुबह उस समय हंगामा मच गया जब याहॉ अतिक्रमण हटाने गई पुलिस टीम से विवाद के बाद लोगों ने हमला कर दिया। गुस्साये लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव कर जमकर हंगामा किया। लोगो द्वारा किये गये पथराव मे हबीबंगज सीएसपी भूपेंद्र सिंह सहित आधा दर्जन से ज्यादा पुलिस के जवान घायल हो गए। पथराव मे हबीबगंज सीएसपी भूपेंद्र सिंह को हाथ ओर पसली मे गंभीर चोटें आई हैं, जिससे उन्हें इलाज के लिये एक निजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है। अधिकारियो ने बताया कि शाहपुरा थाना क्षेत्र में कुछ लोगों द्वारा सरकारी भूमि पर अतिक्रमण कर दुकानें बना ली गयीं थीं, जिसे हटाने के लिए प्रशासनिक अमले के साथ पुलिस की टीम भी पहुंची थी। वहां अतिक्रमण हटाने के दौरान स्थानीय लोगों से विवाद हो गया। इस दौरान लोगों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया, जिसमें हबीबगंज सीएसपी भूपेन्द्र सिंह समेत आधा दर्जन पुलिस के जवान जख्मी हो गए। आला अधिकारियो का कहना है की इस मामले में प्रकरण दर्ज करने के बाद दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। हालाकि खबर लिखे जाने तक इस मामले में प्रकरण दर्ज नहीं किया गया है। वही मामले मे यह जानकारी भी सामने आ रही है की सीएसपी भूपेंद्र सिंह अपनी पुलिस टीम के साथ भरत नगर में रेलवे कॉलोनी की जमीन पर जैसै ही अवैध दुकानों को हटाने पहुंचे। वहॉ उन्हें देख भीड़ उग्र हो गई और सीएमपी को बंधक बना उनके साथ अभद्रता करते हुए पुलिस टीम पर हमला कर दिया। वही हंगामे ओर पुलिस पर हमले की जानकारी मिलते ही मोके पर डीआईजी इरशाद वली सहित एसपी एसपी संपत उपाध्याय दल बल के साथ पहुँचे। ओर पथराव करने वाले लोगो की पुलिस ने धरपकड़ शुरू कर दी। हंगामे के समय भीड़ इतनी उग्र हो गयी की हालात को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस को बेकाबू भीड़ पर लाठीचार्ज करना पडा। बताया जा रहा है की भरत नगर में सब्जी फार्म में हंगामा मंदिर की जमीन पर रेलवे कॉलोनी द्वारा कब्जा कर बनाई गई दुकानों को लेकर हुआ है। लोगो का कहना है की यह जमीन मंदिर की है, जिसपर रेल्वे कब्जा करना चाहता है, ओर इसके खिलाफ वो पूर्व मे अधिकारियो को भी शिकायत कर चूके है। जानकारी के अनुसार पूर्व सांसद आलोक संजर के घर के पीछे इन दुकानों का अवैध निर्माण हुआ है। लोगो का आरोप है की रेलवे कॉलोनी के अध्यक्ष के.के. पुरोहित द्वारा अतिक्रमण कर 11 दुकानें बनाई गई है। ये दुकानो के निर्माण सांसद निधि के सहयोग से किया गया था। हगांमे के बाद फिलहाल इलाके मे स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण मे है, वही एहतियात के लिये यहॉ भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।